1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ब्रिटेन की अदालत ने Nirav Modi की रिमांड 25 जुलाई तक बढ़ाई, स्विट्जरलैंड में 4 बैंक खाते हुए सीज

ब्रिटेन की अदालत ने Nirav Modi की रिमांड 25 जुलाई तक बढ़ाई, स्विट्जरलैंड में 4 बैंक खाते हुए सीज

जांच एजेंसियों ने पंजाब नैशनल बैंक (PNB) में हजारों करोड़ रुपये के घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़े नीरव मोदी और उसकी बहन के चार बैंक खातों को स्विट्जरलैंड में फ्रीज कर दिया गया है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: June 29, 2019 11:21 IST
Nirav Modi - India TV Paisa
Photo:TWITTER

Nirav Modi

नई दिल्ली। पंजाब नैशनल बैंक (PNB Scam) में हजारों करोड़ रुपये के घोटाले के मुख्य आरोपी और भगोड़े नीरव मोदी को आज दो बड़े झटके लगे हैं। पहला ब्रिटेन की अदालत ने नीरव मोदी का रिमांड 25 जुलाई तक बढ़ा दिया है। और दूसरा स्विस अथॉरिटी ने नीरव मोदी और उसकी बहन पूर्वी मोदी के 4 बैंक खातों को फ्रीज कर दिया है, जिनमें करीब 283.16 करोड़ रुपए (करीब 6.4 मिलियन डॉलर) की रकम जमा है। स्विट्जरलैंड ने यह कार्रवाई प्रवर्तन निदेशालय (ED) की विशेष अपील पर की है। ED ने कहा था कि इन खातों में जमा रकम भारतीय बैंकों से अवैध तरीके से ट्रांसफर कराया गया है।

नीरव मोदी आज (27 जून) लंदन की वेस्‍टमिंस्‍टर मजिस्‍ट्रेट कोर्ट के समक्ष वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये पेश हुआ। जज ने कहा कि जेल में रहने के दौरान मामले से जुड़े सभी दस्‍तावेज उपलब्‍ध कराने के लिए अदालत वह सब कर रही है, जो वो कर सकती है। जज ने कहा कि अगली सुनवाई 25 जुलाई तक मोदी को जेल में ही रहना होगा।

नीरव मोदी के वकीलों ने जज से नीरव मोदी को एक लैपटॉप उपलब्‍ध कराने का आग्रह किया था ताकि वह जेल में रहकर भारत सरकार द्वारा उसके खिलाफ बनाए गए 5000 पेज के मामले को पढ़ सके। बता दें कि नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक को करीब 13 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप है। 

बैंक खाते फ्रीज करने को लेकर स्विस बैंक की तरफ से एक रिलीज भी जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि भारत की मांग पर उन्होंने नीरव और पूर्वी मोदी के चार खाते सीज कर लिए हैं। बता दें कि देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले का आरोपी नीरव मोदी चार बार यूके अदालत में जमानत के लिए याचिका दायर कर चुका है लेकिन हर बार उसे नाकामी ही हाथ लगी है। लंदन की कोर्ट ने हर बार उसकी याचिका को खारिज किया है। 

बता दें कि फरवरी 2018 में जब PNB घोटाला देश के सामने आया था, तभी से ही नीरव मोदी फरार है और एजेंसियां उसकी तलाश कर रही हैं। तब से लेकर अब तक उसकी देश में कई करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। बता दें कि नीरव मोदी को 19 मार्च 2019 को लंदन में गिरफ्तार किया गया था, तभी से ही भारतीय एजेंसियां उसे भारत लाने में जुटी हैं और ब्रिटेन के साथ उसके प्रत्यर्पण को लेकर प्रयासरत हैं। भारत में CBI और ED नीरव मोदी से जुड़े मामले की जांच कर रही हैं। 48 वर्षीय, नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक (PNB Scam) धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मार्च में गिरफ्तारी के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन के वंड्सवर्थ जेल में बंद है। 

Write a comment