1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. फ्लोरिडा स्कूल गोलीबारी: 17 लोगों के हत्यारे छात्र ने पहले बजाया था फायर अलार्म लेकिन...

फ्लोरिडा स्कूल गोलीबारी: 17 लोगों के हत्यारे छात्र ने पहले बजाया था फायर अलार्म लेकिन...

अमेरिका में फ्लोरिडा के एक हाई स्कूल में निष्कासित छात्र ने शक्तिशाली राइफल से अंधाधुंध गोलीबारी कर दी जिसमें कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई...

Bhasha Bhasha
Published on: February 15, 2018 19:27 IST
Florida Shooting | AP Photo- India TV
Florida Shooting | AP Photo

वॉशिंगटन: अमेरिका में फ्लोरिडा के एक हाई स्कूल में निष्कासित छात्र ने शक्तिशाली राइफल से अंधाधुंध गोलीबारी कर दी जिसमें कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई। इस घटना में एक दर्जन से ज्यादा लोग जख्मी हो गए हैं। घायलों में भारतीय अमेरिकी मूल का एक छात्र भी शामिल है। यह अमेरिका के इतिहास में गोलीबारी की सबसे घातक घटनाओं में से एक है। संदिग्ध की शिनाख्त 19 वर्षीय निकोलस क्रूज के तौर पर हुई है। वह पार्कलैंड के मारजोरी स्टोनमैन डगलस हाई स्कूल का पूर्व छात्र है। क्रूज को अनुशासन से संबंधित कारणों के लिए निष्कासित किया गया था। उसे घटना के बाद बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्रूज ने लोगों को क्लासरूम से बाहर निकालने के लिए फायर अलार्म बजाया था, लेकिन इस घटना से कुछ ही देर पहले मॉक ड्रिल हुई थी और लोगों को लगा कि कुछ ऐसा ही हो रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्कूल में बड़ी संख्या में भारतीय अमेरिकी समुदाय के छात्र पढ़ते हैं और भारतीय अमेरिकी समुदाय का कम से कम एक छात्र मामूली रूप से जख्मी हुआ है। नौवीं कक्षा में पढ़ने वाले इस छात्र का इलाज अस्पताल में चल रहा है। क्रूज मानसिक रूप से परेशान हाल बताया जा रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गोलीबारी की वारदात को अंजाम देने से पहले उसने सोशल मीडिया पर परेशान करने वाली चीजों को पोस्ट किया था। ब्रोवार्ड काउंटी शेरिफ स्कॉट इस्राइल ने बताया, ‘यह पार्कलैंड के लिए भयानक दिन है।’ पार्कलैंड शहर उत्तर मियामी से 80 किलोमीटर दूर स्थित है और शहर की आबादी करीब 30,000 है। फ्लोरिडा में इस्राइल ने बताया, ‘निकोलस क्रूज हत्यारा है। वह हिरासत में है। हमने उसकी वेबसाइट और सोशल मीडिया की छानबीन शुरू कर दी है। कुछ बातें जो दिमाग में आ रही हैं, बहुत परेशान करने वाली हैं।’

Nikolas Cruz | Broward County Jail via AP

Nikolas Cruz | Broward County Jail via AP

निकोलस क्रूज। (AP)

रिपोर्ट्स के मुताबिक जांचकर्ताओं ने बताया कि क्रूज ने लोगों को क्लासरूम से बाहर निकालने के लिए फायर अलार्म बजाया, लेकिन स्कूल में दिन में आग लगने संबंधित घटना को लेकर छद्म अभ्यास किया गया था। लिहाजा कुछ लोगों को लगा कि यह फर्जी अलार्म है। इस्राइल ने बताया कि क्रूज को अनुशासन संबंधी कारणों के चलते स्कूल से निष्कासित किया गया था। उन्होंने कहा, ‘मुझे सटीक कारण पता नहीं है।’ बहरहाल, मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, क्रूज ने पिछले साल अपनी पूर्व प्रेमिका के नए प्रेमी से झगड़ा किया था जिसके बाद उसे स्कूल से निकाल दिया गया था। इस्राइल ने कहा कि गोलीबारी पहले स्कूल के बाहर की गई। फिर अंदर भी गोलीबारी जारी रखी गई, जहां 12 लोग मारे गए। उन्होंने कहा कि सभी पीड़ितों की पहचान हो गई है, लेकिन अभी किसी की पहचान उजागर नहीं की गई है। इस्राइल ने पीड़ित छात्रों की संख्या की पुष्टि नहीं की।

अधिकारियों ने बताया कि कई घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। उनमें से 3 की हालत नाजुक है। शेखर रेड्डी ने कहा, ‘यह देश और समुदाय के लिए दुखद दिन है। हम सब भारतीय-अमेरिकी पीड़ितों के लिए दुआएं कर रहे हैं।’ इस गोलीबारी की वारदात में रेड्डी के दोस्त का बेटा जख्मी हुआ है। FBI छानबीन में स्थानीय अधिकारियों की मदद कर रही है। संघीय और स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि इस बात का कोई संकेत नहीं मिलता है कि बंदूकधारी का कोई साथी था। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हताहतों के परिवारों के लिए प्रार्थना की और संवेदनाएं व्यक्त कीं। ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘फ्लोरिडा की भयंकर गोलीबारी की घटना में हताहत हुए परिवारों के लिए मेरी प्रार्थनाएं और संवेदनाएं। अमेरिका के किसी स्कूल में किसी भी बच्चे, शिक्षक या किसी अन्य को कभी भी असुरक्षित महसूस नहीं करना चाहिए।’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment