1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका: जानें, न्यूयॉर्क के स्कूलों में सिख धर्म के बारे में क्यों पढ़ाया जाएगा

अमेरिका: जानें, न्यूयॉर्क के स्कूलों में सिख धर्म के बारे में क्यों पढ़ाया जाएगा

अधिकांश अमेरिकियों को यह पता ही नहीं होता है कि सिख एक भारतीय धर्म है, जबकि इसे मानने वाले कम से कम 5 लाख लोग अमेरिका में रहते हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 22, 2018 16:47 IST
New York schools to educate American students about Sikhism | AP Representational- India TV
New York schools to educate American students about Sikhism | AP Representational

न्यूयॉर्क: अमेरिका के अधिकांश नागरिकों को सिख धर्म की जानकारी नहीं है, इसलिए न्यूयॉर्क में इसे स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका में 70 प्रतिशत से ज्यादा नागरिकों को सिख धर्म की जानकारी नहीं होने के बीच न्यूयार्क प्रांत के स्कूलों में इस धर्म तथा इसकी परंपराओं के बारे में जानकारी दी जाएगी। अधिकांश अमेरिकियों को यह पता ही नहीं होता है कि सिख एक भारतीय धर्म है, जबकि इसे मानने वाले कम से कम 5 लाख लोग अमेरिका में रहते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गैर सरकारी संगठन ‘यूनाइटेड सिख्स’ ने न्यूयॉर्क के शिक्षा विभाग के साथ गठजोड़ किया है। इसका मकसद अमेरिकी विद्यार्थियों को सिख धर्म के बारे में जानकारी देना है। ‘यूनाइटेड सिख्स’ के वरिष्ठ नीति सलाहकार प्रीतपाल सिंह ने कहा कि उनके समूह ने जिन अमेरिकियों का सर्वेक्षण किया उनमें से 70 प्रतिशत लोगों को सिख धर्म के बारे में जानकारी नहीं है। अमेरिकी छात्रों को अपने सिख सहपाठियों के बारे में पता नहीं है। सिंह ने कहा, ‘उन्हें यह नहीं पता है कि हम कौन हैं , हमारा मूल क्या है, हम कहां से आते हैं या हम किस देश से आते हैं।’

प्रीतपाल सिंह ने कहा कि यह तथ्य कि हम भारत से आते हैं, वे नहीं समझ पाते। औपचारिक रूप से पाठ्यक्रम शुक्रवार को घोषित किया गया, लेकिन वास्तव में इसकी शुरुआत सितंबर 2016 में कुछ शहर की कक्षाओं से हुई थी। इसके पाठ्यक्रम में शामिल होने के बाद उम्मीद की जा रही है कि अमेरिकियों में अब इस धर्म के बारे में जानकारी मिलेगी और वे इसकी परंपराओं को समझ पाएंगे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment