1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. नई कारों को आसानी से किया जा सकता है हैक, घंटे भर में जा सकती हैं हजारों जानें: रिपोर्ट

नई कारों को आसानी से किया जा सकता है हैक, घंटे भर में जा सकती हैं हजारों जानें: रिपोर्ट

एक अमेरिकी उपभोक्ता अधिकार संरक्षक समूह ने चेतावनी दी है कि वाहन निर्माता ऐसे वाहनों का निर्माण कर रहे हैं जो आसानी से हैक हो सकते हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 02, 2019 13:31 IST
New cars vulnerable to hacks that could leave thousands dead, reveals report | PTI Representational- India TV
New cars vulnerable to hacks that could leave thousands dead, reveals report | PTI Representational

लॉस एंजिलिस: एक अमेरिकी उपभोक्ता अधिकार संरक्षक समूह ने चेतावनी दी है कि वाहन निर्माता ऐसे वाहनों का निर्माण कर रहे हैं जो आसानी से हैक हो सकते हैं और इन वाहनों पर बड़े पैमाने पर साइबर हमला होने की स्थिति में हजारों लोगों की जान जा सकती है। ‘किल स्विच: व्हाय कनेक्टेड कार्स कैन बी किलिंग मशींस ऐंड हॉउ टू टर्न देम ऑफ’ शीर्षक से प्रकाशित नई रिपोर्ट में लॉस एंजिलिस स्थित ‘कन्ज्यूमर वॉचडॉग’ ने कहा कि कार को इंटरनेट से जोड़ने की परिपाटी बन गई है, लेकिन इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा होता है।

साइबर हमले की हालत में होगा बड़ा खतरा

रिपोर्ट में कहा गया कि औद्योगिक तकनीकों की परेशानी यह है कि इन वाहनों की अहम सुरक्षा प्रणाली बिना पर्याप्त सरंक्षा के इंटरनेट से जुड़ी है। साइबर हमले की स्थिति में कार की सुरक्षा प्रणाली को इंटरनेट से अलग नहीं किया जा सकता है। इसमें कहा गया है कि उद्योगों के एग्जिक्यूटिव्स को इस खतरे की जानकारी है, इसके बावजूद वे इस तकनीक को नए वाहनों में लगा रहे हैं और सुरक्षा के आगे मुनाफे को प्राथमिकता दे रहे हैं। यह रिपोर्ट कार उद्योग में कार्यरत 20 व्हिसलब्लोअर के साथ मिलकर 5 महीने तक किए गए अध्ययन पर आधारित है। 

केवल एक घंटे में हो सकती हैं 3,000 मौतें
कार उद्योगों के तकनीक विशेषज्ञों के समूह का मानना है कि सबसे व्यस्त समय में केवल एक घंटे तक कार के बेड़े को हैक करने की स्थिति में करीब 3 हजार लोगों की मौत हो सकती है। एक व्हिसलब्लोअर ने कहा, ‘आप अपनी कार के विभिन्न हिस्सों को अपने स्मार्टफोन के जरिए नियंत्रित करते हैं। इसमें इंजन को स्टॉर्ट करना, एसी को स्टॉर्ट करना, लोकेशन की जांच करना आदि शामिल है। अगर आप स्मार्टफोन की मदद से कार नियंत्रित कर सकते हैं तो कोई और भी इंटरनेट के जरिये यह कर सकता है।’

कंपनियों ने कहा, सनसनी पैदा करने की कोशिश
‘कंज्यूमर वॉचडॉग’ के अध्यक्ष जैमी कोर्ट ने कहा, ‘सुरक्षा एवं अन्य अहम सिस्टम्स को इंटरनेट से जोड़ने की परिपाटी खतरनाक है। अमेरिकी कार निर्माताओं को यह बंद करना चाहिए या कांग्रेस (अमेरिकी संसद) को हमारी परिवहन व्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कदम उठाना चाहिए।’ इस रिपोर्ट में जनरल मोटर्स, टोयोटा और फोर्ड सहित जिन कंपनियों का उल्लेख किया गया है,वे तत्काल प्रतिक्रिया देने के लिए उपलब्ध नहीं थी। हालांकि,वाहन निर्माताओं के गठबंधन की प्रवक्ता ग्लोरिया बर्गक्विस्ट ने कहा, ‘समूह की ओर से ऑटो उद्योग पर प्रकाशित रिपोर्ट लॉस वेगास में साइबर सुरक्षा पर होने वाले कार्यक्रम से पहले सनसनी पैदा करने की कोशिश है।’ (भाषा)

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13