1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका की ताकतवर संघीय अदालत की जज बनीं भारतीय मूल की नेओमी राव

अमेरिका की ताकतवर संघीय अदालत की जज बनीं भारतीय मूल की नेओमी राव

अमेरिका ‌के सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश क्लेरेंस थॉमस ने मंगलवार को व्हाइट हाउस के रूजवेल्ट रूम में राव को शपथ दिलाई। उन्होंने बाइबिल की शपथ ली।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 21, 2019 9:50 IST
Neomi Rao takes oath as judge of powerful court, replaces controversial Kavanaugh | AP- India TV
Neomi Rao takes oath as judge of powerful court, replaces controversial Kavanaugh | AP

वॉशिंगटन: भारतीय मूल की प्रख्यात अमेरिकी वकील नेओमी जहांगीर राव (45) ने ‘डिस्ट्रिक ऑफ कोलंबिया सर्किट कोर्ट ऑफ अपील्स’ के अमेरिकी सर्किट जज के रूप में शपथ ग्रहण की है। उन्होंने विवादों से घिरे ब्रेड कावानॉ का स्थान लिया है। शपथ ग्रहण के दौरान उनके पति अलान लेफेकोविट्ज भी मौजूद थे। अमेरिका ‌के सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश क्लेरेंस थॉमस ने मंगलवार को व्हाइट हाउस के रूजवेल्ट रूम में राव को शपथ दिलाई। उन्होंने बाइबिल की शपथ ली।

व्हाइट हाउस के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। भारत के पारसी डॉक्टर जेरीन राव और जहांगीर नरिओशांग राव के घर डेट्रायट में जन्मी नेओमी राव, श्री श्रीनिवासन के बाद दूसरी भारतीय अमेरिकी हैं जो शक्तिशाली अदालत का हिस्सा बनी हैं। माना जाता है कि इस अदालत से अधिक शक्तिशाली केवल अमेरिकी सर्वोच्च न्यायालय है।

आपको बता दें कि अमेरिकी सीनेट ने नेओमी के नाम को 46 के मुकाबले 53 मतों से मंजूरी दी थी। विपक्षी डेमोक्रेटिक सांसदों ने नेओमी का कड़ा विरोध किया था। अधिकार समूहों ने उनके खिलाफ देशव्यापी अभियान भी चलाया था। इस विरोध का कारण यौन उत्पीड़न तथा अल्पसंख्यकों के बारे में उनका रुख था। गौरतलब है कि नओमी यौन उत्पीड़न पर अपने लेख की वजह से जांच के दायरे में भी रह चुकी हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment