1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में असफलता क्षेत्रीय स्थिरता, शांति के लिए खतरा: अमेरिका

मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में असफलता क्षेत्रीय स्थिरता, शांति के लिए खतरा: अमेरिका

अमेरिका ने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए पर्याप्त आधार है और ऐसा नहीं किया जाना क्षेत्रीय स्थिरता और शांति के लिए खतरा होगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 13, 2019 9:39 IST
Failure to designate Masood Azhar as global terrorist...- India TV
Image Source : PTI Failure to designate Masood Azhar as global terrorist against regional stability, peace: US

वाशिंगटन: अमेरिका ने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए पर्याप्त आधार है और ऐसा नहीं किया जाना क्षेत्रीय स्थिरता और शांति के लिए खतरा होगा। अमेरिका ने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने के संबंध में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अहम निर्णय लिए जाने की पूर्व संध्या पर मंगलवार को यह बयान दिया।

विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पलाडिनो ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अजहर जैश-ए-मोहम्मद का संस्थापक और सरगना है और उसे संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकवादी घोषित करने के लिए पर्याप्त कारण हैं।’’ उन्होंने कहा कि जैश कई आतंकवादी हमलों में शामिल रहा है और वह क्षेत्रीय स्थिरता तथा शांति के लिए खतरा है। 

पलाडिनो ने कहा कि अमेरिका और भारत आतंकवाद के खिलाफ मिलकर काम कर रहे हैं। उन्होंने इस मामले में संयुक्त राष्ट्र में हुई बातचीत पर सीधी टिप्पणी नहीं की। वहीं भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले और उनके अमेरिकी समकक्ष राजनीतिक मामलों के उप विदेश मंत्री डेविड हैल ने विदेश मंत्रालय के फॉगी बॉटम मुख्यालय में वार्ता की। इसके बाद भारतीय दूतावास ने एक बयान जारी कर आतंकवाद संबंधी चिंता व्यक्त की।

बयान में कहा गया, ‘‘दोनों पक्षों ने पाकिस्तान से अपील की कि वह सीमा पार से होनी वाली आतंकवादी गतिविधियों से निपटे और आतंकवाद को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता का उचित समाधान करे।’’ दोनों पक्षों ने भारत-अमेरिका रणनीतिक साझीदारी को लेकर अपनी प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि की। दोनों राजनयिकों ने पिछले सितम्बर में हुई मंत्रिस्तरीय ‘टू प्लस टू’ वार्ता के बाद से हुई प्रगति की समीक्षा की और सहयोग को और बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की।

उल्लेखनीय है कि 50 वर्षीय अजहर ने भारत में कई आतंकवादी हमले कराए हैं और वह संसद, पठानकोट वायुसेना स्टेशन, उरी तथा जम्मू-कश्मीर में कई अन्य जगह सैन्य शिविरों पर हमले और हाल में पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आत्मघाती हमले का साजिशकर्ता है। पुलवामा में 14 फरवरी को हुए जैश के हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। 

इस हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के तीन स्थायी सदस्यों अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के लिए प्रस्ताव पेश किया था। इससे पहले सुरक्षा परिषद में अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने की कई कोशिशों को पाकिस्तान का मित्र चीन बाधित कर चुका है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment