1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. कश्मीर पर मध्यस्थता: ट्रंप के बयान पर मचा बवाल, अमेरिकी सांसद ने भारत से मांगी माफी

कश्मीर पर मध्यस्थता: ट्रंप के बयान पर मचा बवाल, अमेरिकी सांसद ने भारत से मांगी माफी

कश्मीर पर मध्यस्थता को लेकर दिए गए डोनाल्ड ट्रंप के बयान पर अमेरिका में भी बवाल मच गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 24, 2019 8:12 IST
Congressman Brad Sherman calls Trump's statement on Kashmir, amateurish and embarrassing- India TV
Imran Khan and Donald Trump | AP Photo

वॉशिंगटन: कश्मीर पर मध्यस्थता को लेकर दिए गए डोनाल्ड ट्रंप के बयान पर अमेरिका में भी बवाल मच गया है। ट्रंप की विरोधी डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद ब्राड शेरमन ने ट्रंप के बयान को बचकाना बताते हुए भारत से माफी मांगी है। आपको बता दें कि ट्रंप ने सोमवार को कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच ‘मध्यस्थता’ की पेशकश की थी। कश्मीर पर मध्यस्थता की पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की गुजारिश पर उन्होंने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भी उनसे ऐसा करने के लिए कहा था।

ब्राड शारमन ने कहा, शर्मिंदा करने वाला है ट्रंप का बयान

अमेरिका सांसद ब्रॉड शारमन ने ट्रंप के बयान को बचकाना, भ्रामक और शर्मिंदा करने वाला बताया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘हर कोई जो दक्षिण एशिया में विदेश नीति के बारे में कुछ भी जानता है वह जानता है कि भारत लगातार कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का विरोध करता है। सभी जानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी ऐसी बात नहीं करेंगे। ट्रंप ने एक बचकाना, भ्रामक और शर्मिंदा करने वाला बयान दिया है। मैंने अभी भारतीय राजदूत हर्ष श्रृंगला से ट्रंप की इस शर्मनाक गलती के लिए माफी मांगी है।’

Congressman Brad Sherman calls Trump's statement on Kashmir, amateurish and embarrassing

अमेरिकी सांसद ने ट्रंप के बयान को बचकाना और भ्रामक बताया है। Twitter

भारत ने भी ट्रंप के दावे को किया खारिज
भारत ने भी ट्रंप के दावे को पूरी तरह खारिज कर दिया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘हमने अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा प्रेस को दिए उस बयान को देखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि यदि भारत और पाकिस्तान अनुरोध करते हैं तो वह कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। PM मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से इस तरह का कोई अनुरोध नहीं किया है। भारत का लगातार यही रुख रहा है कि पाकिस्तान के साथ सभी लंबित मुद्दों पर केवल द्विपक्षीय चर्चा होगी। पाकिस्तान के साथ किसी भी बातचीत के लिए सीमापार आतंकवाद पर रोक जरूरी होगी। भारत और पाकिस्तान के बीच सभी मुद्दों के समाधान के लिए शिमला समझौता और लाहौर घोषणापत्र का अनुपालन आधार होगा।’

जानें, क्या कहा था डोनाल्ड ट्रंप ने
अमेरिकी राष्ट्रपति ने दावा किया था कि PM मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था। उन्होंने दावा किया कि मोदी और उन्होंने पिछले महीने जापान के ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की थी, जहां मोदी ने उन्हें कश्मीर पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की पेशकश की थी। ट्रंप ने कहा, ‘मैं दो सप्ताह पहले PM मोदी के साथ था और हमने इस विषय पर बात की थी। और उन्होंने वास्तव में कहा, ‘क्या आप मध्यस्थता या मध्यस्थ बनना चाहेंगे?’ मैंने कहा, ‘कहां?’ (मोदी ने कहा) ‘कश्मीर।’ क्योंकि यह कई वर्षों से चल रहा है। मुझे आश्चर्य है कि यह कितने लंबे समय से चल रहा है।’ ट्रंप ने कहा कि यदि दोनों देश कहेंगे तो वह मध्यस्थता के लिए तैयार हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment