1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. ब्रिटिश सरकार ने कहा, ईरानी जहाजों ने हमारे टैंकरों का रास्ता रोकने की कोशिश की

ब्रिटिश सरकार ने कहा, ईरानी जहाजों ने हमारे टैंकरों का रास्ता रोकने की कोशिश की

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह जिब्राल्टर में अधिकारियों ने ईरान के एक तेल टैंकर को रोका था।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 11, 2019 14:45 IST
Iranian boats attempted to impede British tanker in the Gulf, says UK | AP Representational- India TV
Iranian boats attempted to impede British tanker in the Gulf, says UK | AP Representational

लंदन: अमेरिका और ईरान के बीच जारी तनाव के बाद अब ब्रिटेन भी मैदान में उतर चुका है। ब्रिटेन की सरकार ने गुरुवार को कहा कि ईरान की 3 पोतों ने खाड़ी समुद्री क्षेत्र में एक ब्रिटिश टैंकर के मार्ग को बाधित करने की कोशिश की जिसके बाद उसके एक युद्ध-पोत को हस्तक्षेप करना पड़ा। ब्रिटिश सरकार ने बुधवार को हुई इस घटना पर एक बयान में कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय कानून के विपरीत, तीन ईरानी पोतों ने ‘स्ट्रेट ऑफ होर्मुज’ के जरिए वाणिज्यिक पोत ‘ब्रिटिश हेरिटेज’ का मार्ग बाधित करने की कोशिश की।’

ब्रिटिश सरकार ने अपने बयान में कहा, ‘HMS मोंट्रोस को ईरानी जहाजों और ‘ब्रिटिश हेरिटेज’ के बीच खुद को लाना पड़ा और फिर उसने ईरानी जहाजों को मौखिक चेतावनी जारी की, जिसके बाद वह दूर हो गए। हम इस कार्रवाई से चिंतित हैं और ईरानी अधिकारियों से तनाव की स्थिति को कम करने का लगातार आग्रह करते हैं।’ गौरतलब है कि पिछले सप्ताह जिब्राल्टर में अधिकारियों ने ईरान के एक तेल टैंकर को रोका था। इसके बाद ब्रिटेन और ईरान के बीच तनाव की भूमिका तैयार हो गई।

माना जाता है कि यह टैंकर युद्ध से तबाह सीरिया में ईरान का कच्चा तेल लेकर जा रहा था जिस पर यूरोपीय संघ ने प्रतिबंध लगाए हुए है। इसके बाद ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बुधवार को ब्रिटेन को आगाह किया था कि जिब्राल्टर के तट पर देश के एक तेल टैंकर को कब्जे में लेने की कोशिश पर ब्रिटेन को परिणाम भुगतने होंगे। उन्होंने ब्रिटेन को चेताया, ‘मैं इस बात को रेखांकित करना चाहूंगा कि समुद्री क्षेत्र में असुरक्षा की शुरुआत आपने की है और आपको इसके परिणामों का एहसास जल्द, जरूर होगा।’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment