1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. पाकिस्तान ने 18 अंतरराष्ट्रीय सहायता समूहों को बंद करने के आदेश दिये

पाकिस्तान ने 18 अंतरराष्ट्रीय सहायता समूहों को बंद करने के आदेश दिये

पाकिस्तान ने 18 अंतरराष्ट्रीय सहायता संगठनों को बंद करने के आदेश दिये है जिससे देश के उन सबसे जरूरतमंद लोगों के सामने सहायता मिलने का खतरा पैदा हो गया है जिन्हें ये संगठन मदद उपलब्ध कराते थे।

Edited by: IndiaTV Hindi Desk [Published on:05 Oct 2018, 9:50 PM IST]
Pakistan, NGOs- India TV
Pakistan orders 18 foreign-funded NGOs out of country

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने 18 अंतरराष्ट्रीय सहायता संगठनों को बंद करने के आदेश दिये है जिससे देश के उन सबसे जरूरतमंद लोगों के सामने सहायता मिलने का खतरा पैदा हो गया है जिन्हें ये संगठन मदद उपलब्ध कराते थे। अंतरराष्ट्रीय सहायताकर्मियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सरकार की एक सूची के अनुसार जिन सहायता समूहों को बंद करने के आदेश दिये गये है उनमें से ज्यादातर अमेरिका के है जबकि शेष ब्रिटेन के है।

सरकार के ताजा आदेश में जिन सहायता समूहों को बंद करने के आदेश दिये गये है उनमें वर्ल्ड विजन यूएस, कैथोलिक रिलीफ सर्विस यूएस, इंटरनेशनल रिलीफ और डेवल्पमेंट यूएस, एक्शनएड यूके और डेनिश रिफ्यूजी काउंसिल, डेनमार्क आदि हैं। पाकिस्तान की नयी सरकार से इस संबंध में कोई आधिकारिक स्पष्टीकरण नहीं आया है और गृह मंत्रालय द्वारा जारी किये गये आदेश से सहायता समूहों को बंद किये जाने से संबंधित सवालों का कोई जवाब नहीं दिया गया है। सूचना मंत्रालय और विदेश मंत्रालय ने प्रतिक्रिया के लिए एपी के अनुरोधों का कोई जवाब नहीं दिया।

प्लान इंटरनेशनल के कंट्री निदेशक इमरान युसूफ शामी ने बताया कि संगठनों को अपना कामकाज समेटने के लिए 60 दिनों का समय दिया गया है। प्लान इंटरनेशनल को बताया गया कि उसके पंजीकरण से इनकार कर दिया गया है। इस संगठन का मुख्यालय ब्रिटेन में है और यह एक वैश्विक संगठन है जो शिक्षा और बच्चों के अधिकारों पर ध्यान केन्द्रित करता है। शामी ने कहा कि इन समूहों के बंद होने से पाकिस्तान के जरूरतमंद लोगों को ठेस पहुंचेंगी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Web Title: पाकिस्तान ने 18 अंतरराष्ट्रीय सहायता समूहों को बंद करने के आदेश दिये
Write a comment