1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. पाकिस्तान की सरकार का कोर्ट से अनुरोध, हाफिज सईद की पार्टी को चुनाव लड़ने से रोकें

पाकिस्तान की सरकार का कोर्ट से अनुरोध, हाफिज सईद की पार्टी को चुनाव लड़ने से रोकें

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एक सुरक्षा एजेंसी की रिपोर्ट सामने आने के बाद मंत्रालय ने अपना विरोध दर्ज कराया है...

Edited by: IndiaTV Hindi Desk [Published on:23 Dec 2017, 7:26 PM IST]
Hafiz Saeed with Supporters | AP Photo- India TV
Hafiz Saeed with Supporters | AP Photo

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की सरकार ने इस्लामाबाद की एक अदालत से अनुरोध किया है कि वह मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद समर्थित मिल्ली मुस्लिम लीग (MML) को राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकरण करने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दे। पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एक सुरक्षा एजेंसी की रिपोर्ट सामने आने के बाद मंत्रालय ने अपना विरोध दर्ज कराया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि एक राजनीतिक दल के रूप में MML का पंजीकरण राजनीति में हिंसा और उग्रवाद पैदा करेगा।

सईद ने इस महीने की शुरुआत में पुष्टि की थी कि उसका संगठन जमात-उद-दावा (JuD) साल 2018 के आम चुनाव में मिल्ली मुस्लिम लीग के बैनर तले चुनाव लड़ेगा। पाकिस्तान चुनाव आयोग ने MML को राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकृत करने से मना कर दिया था MML ने 11 अक्टूबर को आयोग के इस फैसले को अदालत में चुनौती दी थी। गृह मंत्रालय ने MML की याचिका पर इस्लामाबाद हाई कोर्ट में अपने लिखित जवाब में कहा है कि वह इस समूह के राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकरण का विरोध करता है क्योंकि यह समूह प्रतिबंधित संस्थाओं की शाखा है।

गृह मंत्रालय ने एमएमएल को प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा और JuD की एक शाखा करार दिया है। सितंबर में MML समर्थित उम्मीदवार याकूब शेख ने नेशनल एसेंबली की लाहौर सीट के लिए हुए उपचुनाव में 5,822 वोट हासिल किए थे और चौथे स्थान पर रहे थे। यह उपचुनाव सुप्रीम कोर्ट द्वारा पनामा पेपर घोटाले में नाम आने पर नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य ठहराए जाने के बाद आयोजित किया गया था।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Web Title: Pakistan: Government urges Islamabad High Court to deny clearance to Hafiz Saeed's Milli Muslim League
Write a comment