1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. अब भी सता रहा है पाकिस्तान को एयरस्ट्राइक का डर, भारत के सामने रखी अजीब शर्त

अब भी सता रहा है पाकिस्तान को एयरस्ट्राइक का डर, हवाई क्षेत्र खोलने लिए भारत के सामने रखी अजीब शर्त

पाकिस्तान को अब भी एयरस्ट्राइक का डर सता रहा है जिस कारण इमरान खान सरकार ने कहा है कि वह अभी पूर्वी हवाई क्षेत्र नहीं खोलेगा। यही नहीं उसने भारत के लिए अपने पूर्वी हवाई क्षेत्र को खोलने को लेकर एक अजीब शर्त भी रखी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 22, 2019 13:14 IST
अब भी सता रहा है पाकिस्तान को एयरस्ट्राइक का डर, भारत के सामने रखी अजीब शर्त- India TV
अब भी सता रहा है पाकिस्तान को एयरस्ट्राइक का डर, भारत के सामने रखी अजीब शर्त

नई दिल्ली: पाकिस्तान को अब भी एयरस्ट्राइक का डर सता रहा है जिस कारण इमरान खान सरकार ने कहा है कि वह अभी पूर्वी हवाई क्षेत्र नहीं खोलेगा। यही नहीं उसने भारत के लिए अपने पूर्वी हवाई क्षेत्र को खोलने को लेकर एक अजीब शर्त भी रखी है। शर्त में कहा गया है कि भारत ये वादा करे कि वह दोबारा बालाकोट जैसे हमले नहीं दोहराएगा। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि इस ऑपरेशन में करीब 250 आतंकी मारे गए थे।

Related Stories

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान ने यह प्रतिबंध 28 जून तक के लिए बढ़ा दिया है। गौरतलब है कि इस हवाई क्षेत्र के बंद हो जाने से भारत से जाने और आने वाली उड़ानों को लंबा रास्ता तय करना पड़ता है। 26 फरवरी 2019 को बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद से पाकिस्तान ने भारत के लिए इस हवाई क्षेत्र को बंद कर रखा है।

बता दें कि भारत ने बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक कर पुलवामा हमले का बदला लिया था। एयरस्ट्राइक से 12 दिन पहले 14 फरवरी को जम्मू और कशमीर के पुलवामा में जैश के आत्मघाती हमलावर ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर निशाना बनाया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे।

सूत्र के मुताबिक इस ऑपरेशन का कोड नाम 'ऑपरेशन बंदर' दिया गया था। इस अभियान में 12 मिराज फाइटर जेट के जरिए बालाकोट में आतंकी ठिकानों को तबाह किया गया था। भारतीय सेना के सूत्र ने बताया कि हमले की योजना को गुप्त रखने के लिए ऑपरेशन को यह नाम दिया गया था।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment