1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. फिलिस्तीनी स्कूलों को इस्राइल ने किया ध्वस्त, सैनिकों से जमकर हुई झड़प

फिलिस्तीनी स्कूलों को इस्राइल ने किया ध्वस्त, सैनिकों से जमकर हुई झड़प

स्कूलों के रूप में काम कर रहे इन पोर्टेबल यूनिट्स को ट्रकों के जरिए इस इलाके से हटा दिया गया। यह स्कूल इस्राइल के नियंत्रण वाले इलाके में स्थित था।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 12, 2018 19:21 IST
Israel demolishes Palestinian school in West Bank | twitter.com/DBaranskiW- India TV
Israel demolishes Palestinian school in West Bank | twitter.com/DBaranskiW

जेरूसलम: इस्राइल ने दक्षिणी वेस्ट बैंक में बुधवार को एक फिलिस्तीनी स्कूल को ध्वस्त कर दिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस कार्रवाई को अंजाम देते वक्त फिलिस्तीनियों व इस्राइली सैनिकों के बीच जोरदार झड़प हुई। खालेट अथाबा गांव में पोर्टेबल यूनिट्स के रूप में चलाए जा रहे इन स्कूलों में फिलिस्तीनी बच्चे पढ़ते थे। स्कूलों के रूप में काम कर रहे इन पोर्टेबल यूनिट्स को ट्रकों के जरिए इस इलाके से हटा दिया गया। यह स्कूल इस्राइल के नियंत्रण वाले इलाके में स्थित था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिलिस्तिनियों ने इस स्कूल को हटाए जाने का काफी विरोध किया। इस स्कूल को वहां से हटाए जाने के अभियान को देख रहे इस्राइली सुरक्षा बल के सदस्यों से फिलिस्तीनियों की झड़प शुरू हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्राइल की योजना अपने नियंत्रण वाले इलाकों में स्थित 45 ऐसे स्कूलों को हटाने की है।


अपने स्कूलों को हटाया जाता देख बच्चों से भी नहीं रहा गया और उन्होंने चिल्लाकर कहा, ‘हमें शिक्षा का अधिकार है।’ इसके पहले इस्राइल ने साफ कर दिया था कि वह इस पूरे इलाके में अवैध निर्माणों को पूरी तरह ध्वस्त करके रहेगा।

बच्चे अपनी आंखों के सामने स्कूल को ले जाता देख रहे थे। स्कूल में 6 से 10 साल के 13 छात्र थे। इसमें चार शिक्षक थे। स्कूल एरिया सी में स्थित था, जो इस्राइली अधिकारियों के नियंत्रण में है। संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, 2018 की पहली छमाही में इस्राइल ने कुल 197 फिलिस्तीनी संरचनाओं को ध्वस्त किया है या जब्त किया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment