1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. बीमार नवाज शरीफ का लाहौर अस्पताल में होगा इलाज, दिसंबर से जेल में बंद थे

बीमार नवाज शरीफ का लाहौर अस्पताल में होगा इलाज, दिसंबर से जेल में बंद थे

चिकित्सीय आधार पर जेल से छह सप्ताह के लिए रिहा हुये पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का इलाज बृहस्पतिवार को लाहौर अस्पताल में शुरू किया जायेगा।

Bhasha Bhasha
Published on: March 27, 2019 23:47 IST
Nawaz Sharif File Photo- India TV
Nawaz Sharif File Photo

लाहौर: चिकित्सीय आधार पर जेल से छह सप्ताह के लिए रिहा हुये पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का इलाज बृहस्पतिवार को लाहौर अस्पताल में शुरू किया जायेगा। उनके डॉक्टर ने बुधवार को यह जानकारी दी। 69 साल के शरीफ लाहौर की कोट लखपत जेल में पिछले साल दिसंबर से बंद थे। उन्हें अल-अज़ीजिया इस्पात कारखाना भ्रष्टाचार मामले में सात साल के कारावास की सजा सुनाई गई है। उनके निजी चिकित्सक डॉ. मोहम्मद अदनान खान ने बताया कि उन्हें मेडिकल सिटी हॉस्पिटल में बृहस्पतिवार को लाया जायेगा। उन्हें मंगलवार रात को कारागार से रिहा किया गया था। 

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ के सुप्रीमो ने स्वयं को निर्दोष बताया है। नवाज की बेटी मरियम नवाज़ के मुताबिक, शरीफ को हाल के हफ्तों में एंजाइना के चार दौरे पड़े थे। पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश आसिफ सईद खोसा की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मंगलवार को शरीफ की याचिका को स्वीकार कर लिया था और उन्हें देश के अंदर अपनी पसंद के किसी भी अस्पताल में इलाज कराने की इजाजत दी। नवाज़ शरीफ पर पाकिस्तान से बाहर जाने पर रोक रहेगी। 

पूर्व प्रधानमंत्री के सहयोगी एवं पीएमएल-एन के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में कोट लखपत जेल के बाहर इकट्ठा हो गए और जब नवाज़ शरीफ वहां से जा रहे थे तो उन्होंने उनकी कार पर फूलों की बारिश की। कुछ कार्यकर्ता नवाज़ शरीफ की गाड़ी के साथ उनके घर तक आए। पाकिस्तान के तीन बार प्रधानमंत्री रहे नवाज़ शरीफ की रिहाई के बाबत न्यायालय के आदेश और अन्य दस्तावेज 10 घंटे से ज्यादा वक्त तक जेल नहीं पहुंचे, जिस वजह से उनकी रिहाई में विलंब हुआ। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा कि कई वरिष्ठ डॉक्टरों के मुताबिक, नवाज़ शरीफ उच्च रक्तचाप, दिल की बीमारी, गुर्दे की बीमारी से पीड़ित रहे हैं। 

शीर्ष अदालत ने कहा कि लिहाजा, ‘वाजिब’ गुजारिश पर उन्हें सीमित अवधि के लिए राहत दी जाती है। न्यायालय ने नवाज़ शरीफ को 50-50 लाख पाकिस्तानी रुपये के दो ज़मानती मुचलके जमा करने और इलाज कराने तथा छह हफ्ते बाद समर्पण करने का निर्देश दिया। पीएमएल-एन के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने इस फैसले के लिए न्यायालय का शुक्रिया अदा किया। 

उन्होंने कहा, ‘‘पीएमएल-एन सुप्रीमो नवाज़ शरीफ की चिकित्सकीय रिपोर्टों के मद्देनजर हालत की गंभीरता पर विचार करने के लिए हम सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया अदा करते हैं। हम मुल्क और पीएमएलएन के कार्यकर्ताओं का भी शुक्रिया अदा करते हैं जिनकी दुआओं से यह दिन मुमकिन हुआ।’’ उन्होंने कहा कि नवाज़ शरीफ की सेहत और सलामती पार्टी की शीर्ष प्राथमिकता है। नवाज़ शरीफ का परिवार यह शिकायत करता रहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार तीन बार के पूर्व प्रधानमंत्री को उचित इलाज मुहैया नहीं करा रही है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment