1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. ओमान: ट्रंप ने टैंकर हमले के लिए ईरान को ठहराया दोषी, संयुक्‍त राष्‍ट्र करेगा जांच

ओमान: ट्रंप ने टैंकर हमले के लिए ईरान को ठहराया दोषी, संयुक्‍त राष्‍ट्र करेगा जांच

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ईरान को हर्मुज की सामरिक जलसंधि के पास तेल टैंकरों पर हमलों के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 15, 2019 15:00 IST
Donald Trump- India TV
Donald Trump

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ईरान को हर्मुज की सामरिक जलसंधि के पास तेल टैंकरों पर हमलों के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं लेकिन उन्हें उम्मीद हैं कि सैन्य बल प्रयाग की धमकी से इस्लामी गणराज्य बातचीत के लिए तैयार होगा। वही दूसरी ओर संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी तेल के दो टैंकरों पर हुए हमलों की स्वतंत्र जांच कराने का आह्वान किया है। 

गौरतलब है कि ईरान के जल क्षेत्र के बाहर दो तेल टैंकरों में हुये विस्फोट के एक दिन बाद अंतरराष्ट्रीय तेल बाजारों में अफरा-तफरी मच गई। ट्रम्प ने फॉक्स न्यूज चैनल के ‘‘फॉक्स एंड फ्रेंड्स’’ पर शुक्रवार को कहा कि ‘‘ईरान ने यह किया।’’ अमेरिकी सेना ने एक वीडियो जारी किया और दावा किया कि ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड ने एक तेल टैंकर से नहीं फट सकी बारूदी सुरंग हटाया है। 

यूएन करेगा जांच 

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने इसी सप्ताह ओमान की खाड़ी में तेल के दो टैंकरों पर हुए हमलों की स्वतंत्र जांच कराने का आह्वान किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के हवाले से कहा, "सच का पता लगना बहुत जरूरी है, और जवाबदेही स्पष्ट होना बहुत जरूरी है।" वे यहां पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ तभी हो सकता है जब कोई स्वतंत्र संस्था उन तथ्यों का सत्यापन करे। हमलों और उनकी जांच से संबंधित एक प्रश्न का जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा, "अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में जो भी हो, हम इस संबंध में किसी भी पहल का समर्थन करेंगे, बशर्ते यह स्वतंत्र हो।" गुटेरस ने आगे कहा कि दुनिया खाड़ी में भारी संघर्ष बर्दाश्त नहीं कर सकती।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment