1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. चीन, पाकिस्तान में स्थापित कर सकता है अपने सैन्य शिविर

चीन, पाकिस्तान में स्थापित कर सकता है अपने सैन्य शिविर

पेंटागन की हाल ही मे सामने आई एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि चीन के पकिस्तान एवं उन अन्य देशों में अतिरिक्त सैन्य शिविरों की स्थापना करने की संभावना है, जिन देशों के साथ उसके लंबे समय से मित्रवत संबंध एवं समान सामरिक हित रहे हैं।

India TV News Desk India TV News Desk
Published on: June 07, 2017 13:11 IST
China can set up its military camp in Pakistan- India TV
China can set up its military camp in Pakistan

वाशिंगटन: पेंटागन की हाल ही मे सामने आई एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि चीन के पकिस्तान एवं उन अन्य देशों में अतिरिक्त सैन्य शिविरों की स्थापना करने की संभावना है, जिन देशों के साथ उसके लंबे समय से मित्रवत संबंध एवं समान सामरिक हित रहे हैं। चीन के सैन्य निर्माण पर अमेरिकी कांग्रेस में पेश अपनी वार्षिक रिपोर्ट में अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन का जिबूती के सामरिक क्षेत्र में सैन्य शिविर का निर्माण ऐसा पहला कदम है और संभवत: यह दुनिया में उसके मित्रवत देशों के बंदरगाहों पर सैन्य शिविरों के विस्तार की संभावना का आगाज करेगा। (ईरान की संसद पर बड़ा हमला, लोगों को बंधक बनाया)

हिंद महासागर, भूमध्यसागर एवं अटलांटिक महासागर जैसे सुदूरवर्ती समुद्री क्षेत्रों में नियमन तथा टिकाउ विकास को लेकर जरूरी साजो सामान की पहले से स्थिति सुनिश्चित करने के लिये संभवत:चीन विदेशी बंदरगाहों तक अपनी पहुंच में विस्तार कर रहा है। पेंटागन ने कहा, चीन अपने सैन्य शिविर की स्थापना उन देशों में करना चाहेगा जिन देशों के साथ उसके लंबे समय से मित्रवत संबंध और समान सामरिक हित जुड़े रहे हैं जैसे कि पाकिस्तान और ऐसे देश जहां विदेशी सेना की मेजबानी के उदाहरण देखने को मिले हैं।

रिपोर्ट में हालांकि इस बात पर चिंता जाहिर की गयी है कि अधिक शिविर निर्माण के चीन के प्रयास पर कुछ देशों को मजबूरी में अपनी इच्छा के विपरीत अपने बंदरगाहों पर चीन की पिपुल्स लिबरेशन आर्मी की उपस्थिति के लिये समर्थन करना पड़ सकता है। गौरतलब है कि चीन बलूचिस्तान में सामरिक रूप से स्थित ग्वादर बंदरगाह का विकास कर रहा है और कई अमेरिकी विशेषज्ञों का कहना है कि चीन ने यह कदम वहां अपनी सैन्य मौजूदगी रखने के उद्देश्य से उठाया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment