1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. SCO Summit के इतर एक-दूसरे से गर्मजोशी से मिले मोदी और जिनपिंग, द्विपक्षीय रिश्ते मजबूत करने को लेकर हुई बातचीत

SCO Summit के इतर एक-दूसरे से गर्मजोशी से मिले मोदी और जिनपिंग, द्विपक्षीय रिश्ते मजबूत करने को लेकर हुई बातचीत

किर्गिज़स्तान की राजधानी बिश्केक में इस वक्त भारत और चीन की द्विपक्षीय बातचीत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बिश्केक में जारी एससीओ समिट से इतर मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच गर्मजोशी से मुलाकात हुई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 13, 2019 18:37 IST
Prime Minister Narendra Modi holds delegation level...- India TV
Prime Minister Narendra Modi holds delegation level talks with China President Xi Jinping on the sidelines of the SCO Summit

बिश्केक: किर्गिज़स्तान की राजधानी बिश्केक में इस वक्त भारत और चीन की द्विपक्षीय बातचीत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बिश्केक में जारी एससीओ समिट से इतर मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच गर्मजोशी से मुलाकात हुई। शी जिनपिंग और पीएम मोदी बिश्केक में SCO समिट में हिस्सा लेने पहुंचे हैं। इस दौरान भारत और चीन की द्विपक्षीय बातचीत हो रही है।

बिश्केक में चीन के साथ द्विपक्षीय वार्ता के बाद विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया, ''दोनों देशों ने माना है कि अगला साल भारत-चीन के लिए महत्वपूर्ण है, अगले साल दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंध के 70 साल पूरे हो रहे हैं। इस बैठक में पीएम मोदी ने चाइनीज प्रेजिडेंट शी चिनफिंग से आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान के रवैये पर चर्चा हुई। चीन के प्रेजिडेंट को बताया गया कि इस मुद्दे पर पाकिस्तान ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया है।''

बता दें कि पीएम मोदी लोकसभा चुनाव में दोबारा जीतने के बाद पहले बहुपक्षीय सम्मेलन में भाग ले रहे है। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अन्य देशों के नेताओं से मुलाकात करेंगे।

पीएम मोदी ने बिश्केक की अपनी दो दिवसीय यात्रा से पहले एक बयान में कहा था कि उनकी एससीओ शिखर सम्मेलन से इतर, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग समेत कई नेताओं से मिलने की योजना है। उन्होंने बुधवार को कहा, ‘‘हम क्षेत्र में बहुपक्षीय, राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक और लोगों के बीच आपसी संवाद को बढ़ावा देने में एससीओ को विशेष महत्व देते हैं। भारत ने दो साल पहले एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद इसके विभिन्न वार्ता तंत्रों में सक्रियता से भाग लिया है।’’

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13