1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. अरब देशों ने पाकिस्‍तानी डॉक्‍टरों की डिग्री का बताया अवैध, देश छोड़ने का दिया फरमान

अरब देशों ने पाकिस्‍तानी डॉक्‍टरों की डिग्री का बताया अवैध, देश छोड़ने का दिया फरमान

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: August 07, 2019 11:57 IST
Pakistani Doctors - India TV
Pakistani Doctors 

साउदी अरब और अन्‍य अरब देशों में प्रैक्टिस कर रहे पाकिस्‍तानी डॉक्‍टरों के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है। साउदी अरब और मध्‍य पूर्व के कई देशों ने पाकिस्तान की डॉक्‍टरी की डिग्री जैसे एमएस (मास्टर ऑफ सर्जरी) और एमडी (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) को अमान्‍य घोषित कर दिया है। इस तरह उन्‍होंने इन डिग्री धारक डॉक्‍टरों को उच्चतम भुगतान की पात्रता सूची से हटा दिया है। सऊदी सरकार के कदम के बाद, कतर, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन ने भी इसी तरह का कदम उठाया है। वहां की सरकारों ने डॉक्‍टरों को कहा है कि या तो वे खुद उनका देश छोड़ दें या फिर उन्‍हें निर्वासित कर दिया जाएगा। दूसरी ओर अरब देशों ने भारत के अलावा मिस्‍त्र, सूडान और बांग्‍लादेश की डिग्रियों को वैध माना है। यानि इन देशों के डिग्रीधारक डॉक्‍टर वहां मेडिकल प्रैक्टिस जारी रख सकते हैं। 

पाकिस्तान के एक सदी पुराने एमएस/एमडी की डिग्री को अस्वीकार करते हुए सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने दावा किया कि इसमें संरचनात्‍मक प्रशिक्षण कार्यक्रम का अभाव है, जो महत्वपूर्ण पदों के लिए मेडिक्स को रखने के लिए एक अनिवार्य आवश्यकता है। दरअसल, 2016 में सऊदी के स्वास्थ्य मंत्रालय की एक टीम ने अधिकतर प्रभावित डॉक्टरों को काम पर रखा था, जब उन्होंने ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने के बाद कराची, लाहौर और इस्लामाबाद में साक्षात्कार आयोजित किए थे।

पाकिस्‍तान के लिए यह बेहद शर्म का विषय है, क्‍योंकि स्‍थानीय सरकारों ने भारत के अलावा मिस्‍त्र, सूडान और बांग्‍लादेश की डिग्रियों को वैध माना है। यानि इन देशों के डिग्रीधारक डॉक्‍टर वहां मेडिकल प्रैक्टिस जारी रख सकते हैं। साउदी अरब के मुताबिक पाकिस्‍तानी डिग्री में अनिवार्य ट्रेनिंग का अभाव था। साउदी सरकारों के इस कदम से पाकिस्‍तान को इन डॉक्‍टरों से प्राप्‍त होने वाली विदेशी आय से भी हाथ धोना पड़ेगा। 

पाकिस्‍तान के समाचारपत्र डॉन में छपी खबर के मुताबिक कई डॉक्‍टरों को बर्खास्‍तगी के पत्र मिल गए हैं। यह पत्र साउदी कमीशन फॉर हेल्‍थ स्‍पेशिलिटीज़ (एससीएफएचएस) की ओर से जारी किए गए हैं। इस पत्र में लिखा गया है कि एससीएफएचएस के नियमों के मुताबिक आपकी पाकिस्‍तानी डॉक्‍टरी की डिग्री स्‍वीकार्य नहीं है। पाकिस्‍तान के सीनियर डॉक्‍टरों ने सरकार के इस कदम को उनके कैरियर के लिए घातक बताया है। 

Related Video
India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban