1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. लंदन ब्रिज हमलावर को ‘पाकिस्तान मूल’ का बताने पर गुस्साई भीड़ का अखबार के दफ्तर पर प्रदर्शन

लंदन ब्रिज हमलावर को ‘पाकिस्तान मूल’ का बताने पर गुस्साई भीड़ का अखबार के दफ्तर पर प्रदर्शन

पाकिस्तान में एक अखबार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कई प्रदर्शनकारी इस्लामाबाद स्थित उसके कार्यालय में घुस गए। ये प्रदर्शनकारी प्रमुख दैनिक अखबार की उस खबर से नाराज थे, जिसमें लंदन ब्रिज हमलावर की पहचान ‘‘पाकिस्तानी मूल के शख्स’’ के तौर पर की गई है

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: December 03, 2019 15:14 IST
 Angry mob protests at newspaper office over calling London Bridge attacker of Pakistan origin- India TV
Image Source : AP  Angry mob protests at newspaper office over calling London Bridge attacker of Pakistan origin

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में एक अखबार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कई प्रदर्शनकारी इस्लामाबाद स्थित उसके कार्यालय में घुस गए। ये प्रदर्शनकारी प्रमुख दैनिक अखबार की उस खबर से नाराज थे, जिसमें लंदन ब्रिज हमलावर की पहचान ‘‘पाकिस्तानी मूल के शख्स’’ के तौर पर की गई है। डॉन अखबार ने अपनी हेडलाइन में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के इस्लामिक आतंकवादी उस्मान खान की पहचान ‘‘पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक’’ के तौर पर की थी।

खान ने पिछले सप्ताह लंदन ब्रिज पर किए एक आतंकवादी हमले में दो लोगों की चाकू घोंपकर हत्या कर दी थी। वहीं, कई अन्य स्थानीय अखबारों ने बताया था कि उसका जन्म और पालन-पोषण ब्रिटेन में हुआ और उसका पाकिस्तान से कोई संबंध नहीं है। सोमवार को कुछ अज्ञात लोगों ने इस्लामाबाद में डॉन के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

समाचार पत्र ने बताया कि अखबार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गुस्साई भीड़ करीब तीन घंटे तक कार्यालय की इमारत के बाहर डटी रही, उन्होंने परिसर की घेराबंदी की और कर्मचारियों को बंधक बना लिया। उन्होंने कर्मचारियों को इमारत में प्रवेश करने या बाहर निकलने से रोक दिया और लिखित में माफी मांगने की मांग की। कुछ प्रदर्शनकारियों ने अखबार और डॉन टीवी के कर्मचारियों के साथ बदसलूकी भी की।

मीडिया हाउस के सुरक्षा कर्मियों को पुलिस तथा अधिकारियों के आने से पहले प्रदर्शनकारियों को परिसर में आने से रोकने के लिए गेट बंद करने पड़े। एक सहायक आयुक्त की मौजूदगी में अखबार प्रबंधक के साथ घंटों तक चली बातचीत के बाद प्रदर्शनकारी चेतावनियां देने के बाद आखिरकार जाने के लिए तैयार हो गए। विभिन्न राजनीतिक दलों, सांसदों और मीडिया संस्थाओं ने इस घटना की निंदा की है। 

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13