1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. लीबिया में हुई हिंसा के बीच 400 कैदी जेल से फरार

लीबिया में हुई हिंसा के बीच 400 कैदी जेल से फरार

लीबिया की राजधानी त्रिपोली स्थित एक जेल में गत रविवार को हुए संघर्ष के बाद करीब 400 कैदी फरार हो गए। पुलिस ने फरार कैदियों के अपराधों के बारे में कोई ब्योरा दिये बिना कहा, ‘‘कैदी दरवाजे तोड़कर फरार होने में कामयाब हो गए।”

Edited by: IndiaTV Hindi Desk [Published on:03 Sep 2018, 9:12 AM IST]
libya- India TV
libya

त्रिपोली: लीबिया की राजधानी त्रिपोली स्थित एक जेल में गत रविवार को हुए संघर्ष के बाद करीब 400 कैदी फरार हो गए। पुलिस ने फरार कैदियों के अपराधों के बारे में कोई ब्योरा दिये बिना कहा, ‘‘कैदी दरवाजे तोड़कर फरार होने में कामयाब हो गए।” प्रतिद्वंद्वी मिलीशियाओं के बीच जारी संघर्ष के ऐन जारा जेल तक फैलने के बाद यह वाकया हुआ है। बयान में कहा गया कि सुरक्षाकर्मी, कैदियों को फरार होने से नहीं रोक पाये क्योंकि उन्हें अपनी जान का भय था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी से सम्पर्क किया गया लेकिन वह कोई जानकारी नहीं मुहैया करा पाए। (राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, भारतीय प्रवासी भारत के सच्चे सांस्कृतिक राजदूत )

फरार होने वाले अधिकतर कैदी या तो आम अपराधों के लिए दोषी ठहराये गये थे या वे पूर्व तानाशाह मोअम्मर कज्जाफी के समर्थक थे। कज्जाफी को 2011 में हुए उस विद्रोह के दौरान हत्याओं का दोषी पाया गया था जो उनके शासन के खिलाफ हुआ था। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक आंकड़े के अनुसार त्रिपोली के दक्षिणी उपनगरीय क्षेत्रों में सोमवार को प्रतिद्वंद्वी मिलीशिया के बीच हुए संघर्ष में कम से कम 39 लोग मारे गए हैं और करीब 100 घायल हुए हैं। आपातकाल सेवाओं और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रविवार को त्रिपोली में विस्थापितों के एक शिविर पर रॉकेट दागे गए थे जिसमें कम से कम दो व्यक्तियों की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए।

शिविर में रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया, ‘‘शिविर में रहने वाले अधिकतर परिवार और रॉकेट हमलों के भय से शिविर छोड़कर चले गए हैं।’’ आपातकालीन सेवाओं के अनुसार शुक्रवार और शनिवार को शिविर पर कम से कम 23 रॉकेट गिरे जिससे लोग हताहत हुए। राष्ट्रीय एकता सरकार ने रविवार को कहा कि वह लीबिया की राजधानी और उसके आसपास के क्षेत्रों में आपात स्थिति घोषित कर रही है।

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Write a comment
pulwama-attack
australia-tour-of-india-2019