1. You Are At:
  2. होम
  3. विषय

ram mandir babri masjid row

Hindus feeling 'insulted' by SC, won't hesitate to launch agitation for Ram temple: RSS

राम मंदिर प्राथमिकता में नहीं होने की शीर्ष अदालत की टिप्पणी से हिंदू "अपमानित" हुए: संघ

राष्ट्रीय | Nov 03, 2018, 10:54 PM IST

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने शुक्रवार को कहा कि उच्चतम न्यायालय की इस टिप्पणी से हिंदू "अपमानित" महसूस कर रहे हैं कि अयोध्या का मुद्दा प्राथमिकता वाला नहीं है। संघ ने जोर देते हुए कहा कि राम मंदिर के मुद्दे पर कोई विकल्प नहीं रहा तो अध्यादेश लाना जरूरी होगा।

Modi govt should show courage and start Ram temple construction: Shiv Sena

मोदी सरकार को साहस दिखा राम मंदिर का निर्माण करना चाहिए: शिवसेना

राजनीति | Oct 14, 2018, 10:37 PM IST

भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने रविवार को कहा कि नरेंद्र मोदी नीत सरकार को साहस दिखाना चाहिए और अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर का निर्माण शुरू करना चाहिए।

(Photo, PTI)

अयोध्या मंदिर-मस्जिद भूमि विवाद पर आज फिर सुनवाई करेगी शीर्ष अदालत

राष्ट्रीय | Jul 06, 2018, 09:26 AM IST

उच्चतम न्यायालय बाबरी मस्जिद-राम मंदिर भूमि विवाद मामले में आज फिर से सुनवाई शुरू करेगा.....

sri sri Ravishankar

श्री श्री रविशंकर ने कहा, 'मुस्लिमों को चाहिए कि अयोध्या में राम मंदिर के लिए दे दें जमीन'

राष्ट्रीय | Mar 15, 2018, 07:19 PM IST

'यह भगवान राम की जन्मस्थली है, इसलिए इस स्थान से एक मजबूत भावनाएं जुड़ी हैं और चूंकि यह मुसलमानों के लिए इतना महत्वपूर्ण स्थान नहीं है, साथ ही यह ऐसा स्थान है जो विवादित है, इसलिए यहां की नमाज स्वीकार नहीं होगी''

shri shri

रामलला जहां विराजमान हैं वहीं मंदिर बने, मस्जिद कुछ दूर शिफ्ट किया जाए: श्री श्री

राष्ट्रीय | Feb 10, 2018, 11:39 PM IST

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर का कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जहां राम लला विराजमान हैं वहीं होना चाहिए जबकि मस्जिद को कुछ दूर शिफ्ट करना ही इस मामले का सही समाधान हो सकता है।

अयोध्या मामले में आज से सुप्रीम कोर्ट में शुरू होगी सुनवाई, राम मंदिर का काउंटडाउन शुरु?

समाचार पत्रिका | Feb 08, 2018, 07:50 AM IST

The matter is listed for hearing at 2 p.m. on Thursday before the bench of Chief Justice Dipak Misra, Justice Ashok Bhushan and Justice S. Abdul Nazeer.