1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. टेक
  4. न्यूज़
  5. भारत को 'गरीब' बताने वाले बयान पर Snapchat ने कही यह बात

भारत को 'गरीब' बताने वाले बयान पर Snapchat ने कही यह बात

दुनिया की अग्रणी सोशल नेटवर्किंग कंपनी Snapchat ने अपने CEO इवान स्पीगल के भारत को 'गरीब' बताने वाले बयान को लेकर सफाई दी है।

IANS IANS
Published on: April 23, 2017 19:23 IST
Evan Spiegel | AP Photo- India TV
Evan Spiegel | AP Photo

न्यूयॉर्क: दुनिया की अग्रणी सोशल नेटवर्किंग कंपनी Snapchat ने अपने CEO इवान स्पीगल के भारत को 'गरीब' बताने वाले बयान को लेकर सफाई दी है। अपने बयान के कारण पूरी दुनिया से आलोचनाएं झेलने और गूगल के ऐप स्टोर पर रेटिंग के गिरने से परेशान स्नैपचैट अब क्षतिपूर्ति करता नजर आ रहा है। स्नैपचैट ने एक बयान जारी कर स्पीगल के कथित बयान को 'हास्यास्पद' करार दिया है और कहा है कि यह बातें स्नैपचैट से नाराज उसके एक पूर्व कर्मचारी ने लिखी है। स्नैपचैट ने अपने बयान में कहा है, ‘भारत और शेष विश्व में स्नैपचैट पर मौजूद समुदाय पर हमें गर्व है।’

टेक से जुड़ी ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इसी वर्ष मार्च में शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद 24 अरब डॉलर का IPO बेचकर चर्चा में आई स्नैपचैट को बाजार विश्लेषक शीर्ष सोशल साइट फेसबुक का प्रबल प्रतिद्वंद्वी मान रहे थे। खबरों के मुताबिक, अपने कारोबार को हो रहे नुकसान को देखते हुए स्नैपचैट ने क्षतिपूर्ति के इरादे से कहा है कि स्पीजेल ने कभी ऐसा बयान नहीं दिया और स्नैपचैट के एक पूर्व असंतुष्ट कर्मचारी ने गुस्से में यह सब लिखा था। हाल ही में स्नैपचैट के पूर्व कर्मचारी एंथनी पोम्प्लियानो ने अदालत में की गई अपनी शिकायत में स्पीजेल के हवाले से यह बातें कही थीं, जिसे स्नैपचैट ने 'हास्यास्पद' कहा है।

पढ़ें: स्नैपचैट के CEO ने भारत को गरीब देश कहा, भड़क गए भारतीय यूजर्स

पोम्प्लियानो ने इसी वर्ष जनवरी में लॉस एंजेलिस की सुपीरियर कोर्ट में यह मुकदमा दर्ज किया था। स्नैप इंक ने लिफाफाबंद इस गैर संपादित शिकायत की कॉपी को पिछले सप्ताह बिना संपादन के सार्वजनिक कर दिया। इसी शिकायतनामा में पोम्प्लियानो ने दावा किया है कि सितंबर, 2015 में उनसे स्पीजेल ने स्नैपचैट के मोबाइल ऐप के अंतर्राष्ट्रीय विकास योजना के बारे में कहा था, ‘यह ऐप सिर्फ अमीर लोगों के लिए है। मैं इसे भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में नहीं ले जाना चाहता।’ स्पीगल का यह बयान सामने आने के साथ ही स्नैपचैट को समूचे विश्व से आलोचनाएं झेलनी पड़ी, खासकर भारत से।

इन्हें भी पढ़ें:

सोशल मीडिया पर लाखों की संख्या में स्नैपचैट के उपयोगकर्ताओं ने अपनी नाराजगी जाहिर की और गूगल के ऐप स्टोर पर उसकी रेटिंग गिरकर एक स्टार रह गई है। स्नैपचैट के एक यूजर के. पी. नायक ने प्ले स्टोर पर स्नैपचैट की रेटिंग एक स्टार रहने पर प्रतिक्रिया में लिखा, ‘स्नैपचैट के सीईओ महोदय, हम गरीब हो सकते हैं, लेकिन हमारा दिल आपसे बड़ा है।’ एक अन्य उपयोगकर्ता श्रेयस सिंह ने 15 अप्रैल को ट्वीट किया, ‘चूंकि मैं बेहद गरीब हूं इसलिए स्नैपचैट को अनइंस्टाल करता हूं। लेकिन इतने दिनों तक हमारा मनोरंजन करने के लिए धन्यवाद।’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन
Write a comment