1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. World Cup 2019: विश्व कप में पहली बार इन पांच चीज़ों का होगा इस्तेमाल जो बनाएगा महासंग्राम को और भी ख़ास

World Cup 2019: विश्व कप में पहली बार इन पांच चीज़ों का होगा इस्तेमाल जो बनाएगा महासंग्राम को और भी ख़ास

1992 विश्व कप में पहली बार तकनीकी का प्रयोग किया गया था। जिसमे थर्ड अम्पायर को लाया गया। उसके बाद 2008 विश्व कप में डीआरएस को शामिल किया गया।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Updated on: May 24, 2019 16:09 IST
विश्व कप ट्रॉफी - India TV
Image Source : GETTY IMAGE 2019 आईसीसी विश्व कप ट्रॉफी 

आधुनिक क्रिकेट नई तकनीकी से दिन प्रतिदिन बदलता जा रह है. जिसके चलते इस बार 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में खेले जाने विश्व कप 2019 में कई नई तकनीको का पहली बार प्रयोग किया जायेगा। जो इस विश्व कप को और भी ख़ास बनाएगा। 

गौरतलब है कि 1992 विश्व कप में पहली बार तकनीकी का प्रयोग किया गया था। जिसमे थर्ड अम्पायर को लाया गया। उसके बाद 2008 विश्व कप में डीआरएस को शामिल किया गया। वहीं विश्व कप 2015 में एलईडी स्टंप्स का इस्तेमाल होना भी शामिल है। बात अगर विश्व कप 2019 कि करें तो इसमें पांच ऐसी चीज़ें शामिल है जो किसी विश्व कप में पहली बार इस्तेमाल की जाएँगी। चलिए डालते हैं उन पर एक नजर:- 

जर्सी के अंदर खिलाड़ी पहनेंगे 'ट्रैकर डिवाइस'

इस बार खिलाड़ी अपनी जर्सी के अंदर यह ट्रैकर डिवाइस (वेस्ट) पहनेंगे। इसकी मदद से मैदान पर खिलाड़ियों के मूवमेंट को मॉनीटर करने में मदद मिलेगी। साथ ही यह उनका वर्कलोड ट्रैक करेगी। इसकी मदद से फिजियो और ट्रेनर यह जान सकेंगे कि किस खिलाड़ी को आराम की जरूरत है और कौन इंजर्ड हुआ है। मैनचेस्टर यूनाइटेड, बार्सिलोना जैसे फुटबॉल क्लब इसका इस्तेमाल करते हैं। भारत और श्रीलंका के अलावा अन्य दो और देशों कि टीमें इसका इस्तेमाल करेंगी। 

स्पिनर से निपटने के लिए 18 मैदान पर स्पिन बॉलिंग मशीन

मेजबान इंग्लैंड ने विश्व कप में भारत के युजवेंद्र चहल और अफगानिस्तान के राशिद खान से निपटने के लिए स्पिन बॉलिंग मशीन (मेरलिन मशीन) की मदद ली है। उसने अपनी सभी 18 काउंटी टीमों के मैदान पर स्पिन बॉलिंग मशीन लगवा दी थीं। ताकि उसके बल्लेबाज रिस्ट स्पिनर के खिलाफ महारत हासिल कर सकें। पहले ये मशीनें प्रमुख मैदानों पर ही होती थीं।

स्पाइडरकैम का पहली बार होगा इस्तेमाल 

पहली बार कवरेज के लिए स्पाइडरकैम का इस्तेमाल होगा। हर मैच के कवरेज के लिए 32 कैमरे लगाए हैं। आठ अल्ट्रा-मोशन हॉक-आई कैमरे के अलावा फ्रंट और रिवर्स व्यूस्टंप कैमरे का भी इस्तेमाल होगा। पहली बार 360 डिग्री रिप्ले भी दिखाएंगे। सभी वैन्यू के विजुअल्स के लिए ड्रोन कैमरा और बगी कैमरा का प्रयोग होगा।

पहली बार सभी 10 वॉर्मअप मैचों का लाइव कवरेज

वहीं, क्रिकेट की सबसे बड़ी संस्था आईसीसी ने सबसे बड़ा बदलाव मैच कवरेज को लेकर किया है। आईसीसी मैच के कवरेज के लिए 32 कैमरे का इस्तेमाल करेगा। ताकि 360 डिग्री रिप्ले दिखा सके। इतना ही नहीं आईसीसी पहली बार विश्व कप के सभी 10 वॉर्मअप मैचों का लाइव कवरेज भी करेगा।

अफगानिस्तान में पहली बार होगा प्रसारित विश्व कप

200 से ज्यादा देशों में प्रसारण व्यवस्था के साथ पहली बार क्रिकेट विश्व कप अफगानिस्तान में प्रसारित किया जाएगा। इतना ही नहीं भारत में विश्व कप अंग्रेजी के अलावा हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, बंगला और मराठी भाषा में भी कमेंट्री के साथ स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क के चैनलों पर उपलब्ध रहेगा। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड