1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. बोल्ट ने बिगाड़ा टीम इंडिया का खेल

बोल्ट ने बिगाड़ा टीम इंडिया का खेल

हैमिल्टन वनडे में टीम इंडिया की उम्मीदों पर पानी फिर गया। चौथे वनडे में भारतीय बल्लेबाजों ने कप्तान रोहित की क्लीन स्वीप की तमन्ना को चकनाचूर कर दिया। 

Bhanu Prakash Bhanu Prakash
Published on: January 31, 2019 16:31 IST
Trent Boult- India TV
Image Source : GETTY IMAGES Trent Boult

हैमिल्टन वनडे में टीम इंडिया की उम्मीदों पर पानी फिर गया। चौथे वनडे में भारतीय बल्लेबाजों ने कप्तान रोहित की क्लीन स्वीप की तमन्ना को चकनाचूर कर दिया। टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करते हुए महज 92 रनों पर ढेर हो गई। न्यूजीलैंड ने महज 14.4 ओवर में मैच अपने नाम कर लिया और भारत को 8 विकेट से हराकर 5 मैचों की सीरीज में हार का फासला कम करके 3-1 कर दिया.. इसके साथ ही मार्च 2018 से शुरू हुआ रोहित शर्मा की कप्तानी में भारत की लगातार 12 इंटरनेशनल जीत का सिलसिला थम गया। हैमिल्टन में भारत ने वनडे इतिहास में अपना सातवां सबसे कम सकोर बनाया। दरअसल इस हार से पहले टीम इंडिया न्यूजीलैंड में अजेय मानी जा रही थी।

 
अगर भारत के व्हाइटवॉश के मंसूबे पर किसी ने पानी फेरा है तो वो हैं न्यूजीलैंड के पेसर ट्रेंट बोल्ट। बोल्ट पहले वनडे में विकेट लेने में भले ही नाकाम रहे लेकिन बाकी के तीन वनडे में बोल्ट ने अपनी तरफ से शानदार और दमदार गेंदबाजी की है। हैमिल्टन में खेले गए वनडे में टीम इंडिया के बल्लेबाज असहाय दिखे। कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदों को सही तरीके से नहीं खेल पाया। आलम ये था कि बोल्ट की स्पी़ड के सामने रोहित की सेना थर्रा सी गई और बल्लेबाज वापस बोल्ट को कैच दे बैठे या गेंद विकेट के सामने पैड से टकरा गई। ग्यारह ओवर से पहले ही टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर पैवेलियन वापस लौट गया। बोल्ट ने महज 21 रन देकर 5 विकेट चटकाए। जहां तक इस वनडे सीरीज की बात करें तो 5 मैच खेले जाने हैं। बोल्ट का जलवा इस कदर है कि उन्होंने चार मैच में 36 ओवर फेंके हैं जिसमें 7 ओवर में एक भी रन नहीं दिए हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कुल 141 रन देकर 9 विकेट भी चटकाए हैं। ऐसे में जब कि चार वनडे मैचों में इंडियन टीम के महज 19 विकेट ही गिरे हैं।
 
दरअसल हैमिल्टन में रोहित शर्मा के हाथों में टीम इंडिया की कमान थी। इस दौरे में अब तक खेले गए मैचों में टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने जमकर प्रदर्शन किया। टॉप ऑर्डर हमेशा रंग में दिखा लेकिन आज ओपनर रोहित और धवन का बल्ला ना चला। वहीं पहली बार वनडे में खेल रहे शुभमन गिल हिम्मत के साथ खेलते हुए बोल्ट के सामने अग्निपरीक्षा देते रहे। लेकिन अनुभव की कमी और दबाव की वजह से बोल्ट को रिटर्न कैच दे बैठे। बाकी का कोई बल्लेबाज नहीं चला। मीडिल ऑर्डर में कोहली और एमएस धोनी की कमी आज खली लेकिन नए चेहरे को मौका दिया जाना सही भी कहा जा सकता है। वहीं टीम इंडिया के लोअर ऑर्डर को बल्लेबाजी का मौका मिला जिसमें चहल और कुलदीप ने कुछ हाथ भी दिखाएं और प्रैक्टिस के तौर पर दो दर्जन रन भी बनाए। लेकिन ये रन भारत के लिए काफी ना थे।
 
भले विराट कोहली टीम इंडिया के सीरीज पर कब्जा करने के बाद बाकी के दो वनडे से अलग हो गए लेकिन टीम इंडिया के हाल के प्रदर्शन को देखते हुए उन्होंने सीरीज में पांच शून्य से जीत का मंसूबा पाल रखा होगा। जिसको कारगर करने में भारतीय टीम कामयाब ना हो पाई। क्योंकि हैमिल्टन में टीम इंडिया की हार की कहानी बोल्ट ने लिखी। दरअसल बोल्ट ने 75 वनडे मैच खेले हैं और उन्होंने 138 विकेट झटके हैं। इससे पहले ट्रेंट बोल्ट ने 2017 मुंबई में भारत के खिलाफ 35 रन देकर चार विकेट झटके थे। हैमिल्टन में पांच विकेट लेकर उन्होंने भारत के खिलाफ अपने रिकॉर्ड को बेहतर किया है। अब इस वनडे सीरीज में एक मैच बचा है। हार के बाद टीम इंडिया जरूर तिलमिलायी होगी इसका असर आखिरी वनडे में नजर आ सकता है लेकिन बोल्ट भी अपने करंट से हार के अंतर को कम करने की कोशिश करेंगे। ऐसे में टीम इंडिया को ट्रेंट बोल्ट से खिलाफ सतर्क होकर खेलना होगा और सीरीज को यादगार बनाने के लिए दमखम दिखाना होगा ।  

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड