1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी के प्रियांशु मोलिया ने 556 रन बनाकर रचा इतिहास, ठोके 98 चौके

मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी के प्रियांशु मोलिया ने 556 रन बनाकर रचा इतिहास, ठोके 98 चौके

प्रियांशु मोलिया वडोदरा क्रिकेट ग्राउंड में योगी क्रिकेट एकेडमी के खिलाफ मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी की तरफ से 556 रन ठोककर सुर्खियों का विषय बन गए।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Updated on: October 31, 2018 19:42 IST
Cricket Bat and Ball- India TV
Image Source : GETTY IMAGES Cricket Bat and Ball

भारत में क्रिकेट प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। यही वजह है कि भारतीय क्रिकेट आज बुलंदियों पर पहुंच चुका है। हाल ही में मोहिंदर अमरनाथ के शिष्य प्रियांशु मोलिया ने जूनियर क्रिकेट में इतिहास रच डाला। प्रियांशु मोलिया ने बड़ौदा अंडर-14 टूर्नामेंट में खेलते हुए 556 रनों की पारी खेल डाली। प्रियांशु मोलिया मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट अकादमी से खेल रहे थे और उन्होंने अंडर-14 टूर्नामेंट में इस कारनामे को अंजाम दिया।

प्रियांशु वडोदरा क्रिकेट ग्राउंड में योगी क्रिकेट एकेडमी और मोंहिदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी के बीच खेले गए मुकाबले में मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी की तरफ से 556 रन ठोककर सुर्खियों का विषय बन गए। यही नहीं, बल्लेबाजी में जलवा दिखाने से पहले प्रियांशु ने गेंदबाजी में भी अपना दम दिखाया और उन्होंने योगी क्रिकेट एकेडमी के 4 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा।

पहले दिन का खेल खत्म होने तक प्रियांशु ने नाबाद 408 रन बना लिए थे और इसके अगले दिन उन्होंने 148 रन और ठोके। इस तरह से प्रियांशु ने 319 गेंदों में 556 रन बनाए। प्रियांशु ने अपनी पारी में 98 चौके और 1 छक्का लगाया। प्रियांशु की मैराथन पारी की बदौलत मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी ने 826 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद मोहिंदर लाला अमरनाथ एकेडमी ने 689 रनों से मुकाबला भी जीत लिया।

मिड डे से बातचीत में प्रियांशु ने कहा, 'इससे पहले मेरा बेस्ट स्कोर पिछले साल इसी टूर्नामेंट में 254 रन था। विरोधी टीम का गेंदबाजी आक्रमण अच्छा था और ऐसे में मैं सिर्फ अपना नैचुरल गेम खेल रहा था। मैं अपनी इस पारी से संतुष्ट हूं लेकिन मुझे ये बी पता है कि इस पारी के दौरान मैं चार-पांच मौकों पर बीट भी हुआ।'

प्रियांशु ने आगे कहा, 'जब मैंने शतक लगाया तो मैंने अपने लिए अगला लक्ष्य 200 का रखा। इसी तरह मैं अपने लक्ष्य को बार-बार 100 रन के हिसाब से बढ़ा रहा था। मोहिंदर सर मुझे हमेशा बल्लेबाजी करते देखते हैं। वो मुझे बताते हैं कि कहां सुधार की जरूरत है या फिर कहां कमी है। इस पारी के बांद मैंने मोहिंदर सर से बात की और वो मेरी इस उपलब्धि से खासा खुश नजर आए।' 

आपको बता दें कि बड़ौदा हमेशा से भारत को अच्छे क्रिकेटर देने के लिए जाना जाता रहा है। अंशुमन गायकवाड़, किरन मोरे, नयन मोंगिया, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्याउन खिलाड़ियों में हैं जो बड़ौदा से आते हैं और अब हो सकता है कि प्रियांशु भी इन खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हो जाएं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड