india-vs-west-indies-2018
  1. You Are At:
  2. होम
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. भारत में खेलने का सवाल ही नहीं उठता: पीसीबी

पीसीबी प्रमुख ने कहा, भारत में खेलने का सवाल ही नहीं उठता

नयी दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को दिसंबर में प्रस्तावित द्विपक्षीय श्रृंखला भारत में खेलने के प्रस्ताव को नामंजूर करते हुए पहले ही अनिश्चतता के बादलों से घिरे टूर्नामेंट को फिर से खतरे में

Bhasha [Updated:17 Nov 2015, 11:43 AM IST]
भारत में खेलने का सवाल...- India TV
भारत में खेलने का सवाल ही नहीं उठता: पीसीबी

नयी दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को दिसंबर में प्रस्तावित द्विपक्षीय श्रृंखला भारत में खेलने के प्रस्ताव को नामंजूर करते हुए पहले ही अनिश्चतता के बादलों से घिरे टूर्नामेंट को फिर से खतरे में डाल दिया।

पिछले कुछ दिनों से श्रृंखला होने की संभावना को बल मिला था लेकिन पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान ने साफ किया कि पाकिस्तानी टीम का श्रृंखला के लिये भारत का दौरा करने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर ने पिछले शनिवार को शहरयार को फोन करके टूर्नामेंट का आयोजन भारत में करने का प्रस्ताव रखकर उनसे सरकार से अनुमति लेने के लिये कहा था।

लेकिन शहरयार ने स्पष्ट किया कि यह श्रृंखला तभी संभव है अगर भारत यूएई में आकर खेले जहां लाहौर में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर आतंकी हमले के बाद 2009 से पाकिस्तान अपने घरेलू मैच खेल रहा है।

शहरयार ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा, भारत में खेलने का सवाल ही नहीं उठता। मुझे अब भी यूएई में नहीं खेलने के कारण का इंतजार है।

उन्होंने कहा, हम 2007 और 2012 में वहां गए। इस बार फिर ऐसा नहीं होगा। यह हमारी श्रृंखला है और हम अपने घरेलू स्थल पर खेलेंगे जो यूएई है। यूएई में खेलने में क्या समस्या है। उन्हौंने अपना आईपीएल भी वहां खेला था तो फिर पाकिस्तान श्रृंखला क्यों नहीं।

बीसीसीआई ने अभी इस ताजा घटनाक्रम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं की है।

दोनों बोर्ड ने 2014 में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे जिसके अनुसार पाकिस्तान को दो टेस्ट, पांच वनडे और दो टी20 मैचों की श्रृंखला के लिए भारत की मेजबानी करनी है।

हालांकि इस श्रृंखला के लिए सिर्फ एक महीने का समय उपलब्ध है क्योंकि भारत को 12 जनवरी से शुरू हो रही सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए आठ जनवरी को आस्ट्रेलिया जाना है।

पीसीबी में इस बात पर आम सहमति है कि पीसीबी को भारत का दौरा नहीं करना चाहिए क्योंकि यह उसकी घरेलू श्रृंखला है। पीसीबी कार्यकारी समिति के अध्यक्ष ने भी इस प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया था।

दूसरी तरफ से भारत ने अपनी तरफ से कहा कि कि उसके लिये यूएई में खेलना संभव नहीं है क्योंकि इसके लिये उसे सरकार से मंजूरी नहीं मिलेगी। उसने भारत में श्रृंखला होने पर राजस्व के बंटवारे की भी पेशकश की थी।

भारत में द्विपक्षीय श्रृंखला पर अंतिम फैसला जिस तरह सरकार पर निर्भर करता है उसी तरह पीसीबी को भी प्रस्तावित श्रृंखला पर अंतिम फैसले के लिए अपनी सरकार से स्वीकृति की जरूरत पड़ेगी।

इस बीच शहरयार ने पाकिस्तान में में मीडिया से कहा कि पीसीबी के बोर्ड आफ गवर्नर्स की कल बैठक होगी जिसमें भारत के साथ श्रृंखला और पाकिस्तान सुपर लीग पर चर्चा की जा सकती है।

शहरयार ने कहा, मैं बोर्ड आफ गवर्नर्स को भारतीय बोर्ड के अध्यक्ष शशांक मनोहर के साथ हुई बातचीत से अवगत कराउंगा और इसके बाद हम बोर्ड आफ गर्वनर्स के स्पष्ट दिशानिर्देशों के साथ यह मसला बोर्ड के मुख्य संरक्षक प्रधानमंत्री के सामने रखेंगे।

उन्होंने साफ किया कि भारत के साथ क्रिकेट बहुत महत्वपूर्ण मसला है और इसलिए प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से सुझाव लेना बेहद जरूरी है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Web Title: पीसीबी प्रमुख ने कहा, भारत में खेलने का सवाल ही नहीं उठता
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड