1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. रणजी ट्रॉफी में डीआरएस को मिला स्थान जबकि इन दो तकनीको को नहीं किया शामिल

रणजी ट्रॉफी में डीआरएस को मिला स्थान जबकि इन दो तकनीको को नहीं किया शामिल

बीते सीजन में रणजी मुकाबलों में खराब अम्पायरिंग की शिकायत आई थी।

IANS IANS
Published on: July 19, 2019 12:51 IST
DRS- India TV
Image Source : GETTY IMAGE Now DRS will be used in Ranji Matches

मुम्बई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने साफ़ कर दिया है कि इस सीजन में रणजी नाकआउट मुकाबलों में लिमिटेड डीआरएस का उपयोग किया जाएगा। बीसीसीआई के मुताबिक डीआरएस में हॉकआई और अल्ट्राएज का उपयोग नहीं होगा। इन दो तकनीकों का इस्तेमाल इंटरनेशनल क्रिकेट में किया जाता है।

बीते सीजन में रणजी मुकाबलों में खराब अम्पायरिंग की शिकायत आई थी। इसमें सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान चेतेश्वर पुजारा को जोरदार निक के बावजूद आउट नहीं दिया गया था।

बीसीसीआई के महाप्रबंधक सबा करीम ने लिमिटेड डीआरएस के उपयोग की पुष्टि की है। करीम ने कहा, "बीते साल कुछ नॉकआउट मैचों के दौरान अम्पायरों से कुछ गलतियां हुई थीं और इसी कारण हमने इस तरह की स्थिति से बचने के लिए लिमिटेड डीआरएस का उपयोग करने का फैसला किया है।"

भारत में क्रिकेट का काम देख रही प्रशासकों की समिति ने इस साल जून में लिमिटेड डीआरएस को हरी झंडी दे दी थी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड