1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. स्कॉटलैंड के बाद अब जिम्बाब्वे पर बरसी मुसीबत, ऐसा होने पर टीम हो जाएगी 2019 विश्व कप से बाहर

स्कॉटलैंड के बाद अब जिम्बाब्वे पर बरसी मुसीबत, ऐसा होने पर टीम हो जाएगी 2019 विश्व कप से बाहर

जिम्बाब्वे की टीम अगर आज जीत जाती है तो वो 2019 विश्व कप में पहुंच जाएगी।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Published on: March 22, 2018 17:52 IST
जिम्बाब्वे टीम- India TV
जिम्बाब्वे टीम

आईसीसी वर्ल्ड कप क्वालीफायर में आज भी सुपर सिक्स में एक बेहद अहम मुकाबला खेला जा रहा है। ये मुकाबला जिम्बाब्वे के लिए बेहद ही बड़ा है। क्योंकि अगर टीम इस मैच को जीत जाती है तो वो 2019 विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर लेगी। हालांकि अगर वो हार जाती है तो 2019 विश्व कप खेलने उसके लिए एक सपना बन जाएगा। लेकिन मैच के मौजूदा हालात को देखते हुए जिम्बाब्वे के लिए मुश्किलें बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं।

अभी बुधवार को बारिश की वजह से स्कॉटलैंड को जीते हुअ मैच में हार झेलनी पड़ी थी और अब आज के मैच में भी बारिश मुसीबत बन गई है। अगर आज बारिश के कारण मैच रद्द हो जाता है तो फिर जिम्बाब्वे का 2019 विश्व कप से बाहर होना तय है। क्योंकि इस हालात में फिर कल होने वाले आयरलैंड-अफगानिस्तान मैच का विजेता ही 2019 विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर पाएगा। हालांकि अगर कल होने वाला मैच भी रद्द या फिर टाई होता है तो ही जिम्बाब्वे की टीम 2019 विश्व कप में जगह बना पाएगी।

आपको बता दें कि जब यूएई का स्कोर 235/7 था उसी दौरान बारिश आ गई और मैच को रोकना पड़ गया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी यूएई की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम का पहला विकेट सिर्फ 18 रन पर ही गिर गया। हालांकि इसके बाद रोहन मुस्तफा और गुलाम शाब्बेर ने तीसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी की। दोनों बल्लेबाजों ने टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया। हालांकि सिकंदर रजा ने मुस्तफा को आउट कर अपनी टीम को दूसरी सफलता दिला दी। जिम्बाब्वे की टीम ने लगातार विकेट लेकर मैच को अपनी तरफ खींचा और अच्छी वापसी कर ली। हालांकि बारिश शुरू होने के कारण मैच को रोकना पड़ गया।

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड

bigg-boss-13
plastic-ban