1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. World Cup 2019: भारत-पाकिस्तान के इन यादगार मुकाबलों में कभी चला था 'माही मैजिक' तो कभी दुनिया ने देखा 'द विराट शो'

World Cup 2019: ये हैं भारत-पाकिस्तान के वो यादगार मुकाबले, कभी चला था 'माही मैजिक' तो कभी दुनिया ने देखा 'द विराट शो'

भारत और पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप में कुल 6 बार भिड़ंत हुई और हर बार टीम इंडिया ने बाजी मारी है। इस बार भारत-पाकिस्तान के बीच 16 जून को मुकाबला खेला जाना है।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Published on: June 15, 2019 9:35 IST
IND vs PAK- India TV
Image Source : GETTY IMAGES World Cup 2019: ये हैं भारत-पाकिस्तान के वो यादगार मुकाबले, कभी चला था 'माही मैजिक' तो कभी दुनिया ने देखा 'द विराट शो'

भारत और पाकिस्तान का मुकाबला हमेशा से ही चर्चा का विषय बना रहा है। दरअसल दोनों पड़ोसी देशों के बीच आपसी संबंध काफी कड़वे हैं। जिसका असर क्रिकेट की पिच अक्सर देखने को मिलता है। 16 जून यानी इस रविवार भारत का सामना वर्ल्ड कप के अपने चौथे मैच में पाकिस्तान से है। जैसा कि आपको मालूम है कि भारत वर्ल्ड कप के इतिहास में पाकिस्तान से एक बार भी नहीं हारा है। हर बार भारत ने पाकिस्तान को पटखनी दी है। एक बार फिर कुछ ऐसी ही उम्मीद लगाई जा रही है। विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम इस समय इंग्लैंड के साथ वर्ल्ड कप जीतने की सबसे प्रबल दावेदार टीम मानी जा रही है। फिलहाल हम आपको भारत-पाक महामुकाबले से पहले कुछ ऐसे यादगार मुकाबलों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें हमेशा याद किया जाता है। 

आखिरी गेंद पर जावेद मियांदाद का छक्का! 18 अप्रैल 1986

ये बात 1986 के एशिया कप की है। इस मैच की आखिरी गेंद पर पाकिस्तान ने बाजी मारी थी। पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज जावेद मियांदाद ने चेतन शर्मा की अंतिम गेंद पर लगाए गए छक्के से पाकिस्तान को जीत दिलाई थी। भारत के पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 245 रन बनाए थे। उसके जवाब में पाक को अंतिम गेंद पर जीत के लिए चार रन चाहिए थे। ऐसे में चेतन शर्मा द्वारा डाली गई फुलटॉस पर मियांदाद ने छक्का लगाकर पाक को यादगार जीत दिलाई। हालांकि भारतीय गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन आखिरी गेंद पर पाकिस्तान ने बाजी मारी थी और 1 विकेट से मुकाबला अपने नाम किया था। ये मैच भारत-पाक के बीच हुए मुकाबलों में काफी यादगार माना जाता है। 

सचिन तेंदुलकर की वो 98 रनों की यादगार पारी (2003 वर्ल्ड कप)

वैसे तो पाकिस्तान की टीम आज तक भारत से वर्ल्ड कप में एक बार भी नहीं जीती है लेकिन 2003 का वो मुकाबला सचिन की उस पारी के लिए याद किया जाता है। भारत-पाकिस्तान की टीमें 2003 वर्ल्ड कप के 36वें मुकाबले में आमने-सामने थी। उस समय भारतीय टीम अपने 5 में से 4 मैच जीतकर कमाल की फॉर्म में थी। वहीं पाकिस्तान 4 में से 2 मैच हार चुका था। दोनों टीमें तीन साल बाद वनडे में आमने-सामने थी। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। इस मैच में उसके ओपनर सईद अनवर के शतक बनाया और पाकिस्तान ने 50 ओवर में 273 रन का स्कोर खड़ा किया। उस समय सचिन और अख्तर के बीच भी एक रायवलरी थी। लेकिन सचिन ने अख्तर के पहले ही ओवर में एक छक्का और दो चौके जड़े। यही नहीं सचिन ने अख्तर के एक ओवर में 18 रन जड़ दिए। इस मैच में सचिन ने 75 गेंद पर 98 रन की पारी खेली। वे जब आउट हुए तब 134 गेंद पर 97 रन बनाने थे। यानी 4.34 के स्ट्राइक रेट से। जिसे राहुल द्रविड़ और युवराज सिंह ने आसानी से हासिल कर लिया। 

'बॉल-आउट' (2007 टी20 वर्ल्ड कप ग्रुप मैच)

साल 2007 टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को बॉल आउट में हराकर टी-20 वर्ल्ड कप का पहला मैच जीता था। दक्षिण अफ्रीका के डरबन में हुए पहले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में भारत ने अपने पहले ग्रुप मैच में पाकिस्तान को हराया था। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 9 विकेट के नुकसान पर 141 रन बनाए। जिसके जवाब में पाकिस्तान की टीम भी 7 विकेट के नुकसान पर 141 रन बनाई थी और मैच ड्रॉ हो गया। इसके बाद मैच का नतीजा बॉल ऑउट से निकाला गया। बॉल आउट में टीम इंडिया ने बॉल आउट में पाकिस्तान को 3-0 से मात दी थी। इस मैच में दुनिया ने एमए धोनी का मैजिक देखा था। कारण था कि माही ने बॉल आउट के लिए तीनों स्पिनर्स को चुना जिसमें वीरेंद्र सहवाग, रॉबिन उथप्पा और हरभजन सिंह शामिल थे। भज्जी को छोड़ दें तो वीरेंद्र सहवाग और रॉबिन उथप्पा केवल पार्ट टाइम बॉलर थे लेकिन धोनी के दिमाग का खेल था कि तीनों ने विकेट लिए। 

लास्ट ओवर ड्रामा (आईसीसी वर्ल्ड टी20 2007 फाइनल)

इसी वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को अपने ग्रुप मुकाबले में हराया था। लेकिन दोनों टीमों का सामना अब फाइनल में भी था। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 20 ओवरों में 157 का स्कोर खड़ा किया था। लक्ष्य का पीछा करने के लिए बल्लेबाजी के लिए उतरी पाकिस्तान की शुरुआत खराब रही लेकिन अंत में उसने अच्छी बल्लेबाजी की। अंत में मिसबाह भारतीय गेंदबाजों पर लगातार हावी हो रहे थे। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रन चाहिए थे जीत के लिए और धोनी ने ओवर दिया जोगेंद्र शर्मा को। सब हैरान थे कि धोनी ने जोगेंद्र शर्मा को ओवर क्यों दिया। लेकिन धोनी जानते थे कि गेम पलट सकता है। दूसरी ही गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ दिया। अब 4 गेंद पर सिर्फ 6 रन चाहिए थे। लेकिन यहां मिसबाह छक्के के लिए बड़ा शॉट खेलना चाहते थे और बाउंड्री पर खड़े फिल्डर श्रीसंत ने कैच कर पाक टीम को ऑलआउट कर दिया। इसी के साथ भारत पहला टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाला देश बना था। 

द विराट कोहली शो (एशिया कप 2012)

भारत-पाकिस्तान के बीच एशिया कप में हुए कई मुकाबलों में से जिस मैच की सबसे ज्यादा चर्चा होती है वह है 2012 के एशिया कप में खेला गया मैच। इस मैच में दुनिया ने देखा था द विराट शो। कोहली उस समय टीम इंडिया के कप्तान नहीं थे। टीम की कमान धोनी के हाथों में ही थी। कोहली ने इस मैच में चेस करते हुए आतिशी शतक जड़ा था और पाकिस्तान के 330 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 6 विकेट से जीत हासिल की थी। क्रिकेट दिग्गजों की मानें तो कोहली की ये पारी वनडे इतिहास की शानदार पारियों में से एक है। पहले बल्लेबाजी करते हुए, पाकिस्तान ने दोनों सलामी बल्लेबाजों मोहम्मद हफीज और नासिर जमशेद के साथ शानदार शुरुआत की। उन्होंने पहले विकेट के लिए 224 रन की एशिया कप रिकॉर्ड साझेदारी की। इसने पाकिस्तानियों को 6 विकेट पर 329 रन के स्कोर तक पहुंचाया। जवाब में, भारत ने सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को जल्दी खो दिया। शून्य के स्कोर पर पहला विकेट खोने के बावजूद, सभी भारतीय बहुत खुश थे क्योंकि उनके पास भारत के दो सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज - सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली मौजूद थे। वर्तमान भारतीय कप्तान कोहली ने ढाका के मैदान पर आग उगलते हुए अपना सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाया - केवल 148 गेंदों में 183 रन बना दिया। उन्होंने और तेंदुलकर ने दूसरे विकेट के लिए 133 रनों की शानदार साझेदारी की। भारत एशिया कप से पाकिस्तान को छह विकेट से मैच जीतने में कामयाब रहा।

मोहम्मद आमिर का वो जादुई ओवर (2017 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल)

भारत पाकिस्तान से आईसीसी ईवेंट्स में केवल एक बार हारा है और वो भी आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में। 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में भारत शानदार प्रदर्शन के साथ फाइनल में पहुंचा था। जबकि इसी टूर्नामेंट में भारत ने पाकिस्तान को लीग स्टेज में बड़े अंतराल से हराया भी था। लेकिन फाइल में पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने भारतीय बल्लेबाजों को इतना परेशान किया कि सब विफल रहे। भारत 339 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहा था, लेकिन फिर भी, कोहली और रोहित जैसे खिलाड़ियों के चलते भारत फिर भी मजबूत माना जा रहा था लेकिन फॉरकास्ट कंडीशन में आमिर ने भारत के शीर्ष 3 - रोहित शर्मा, शिखर धवन और कोहली को आउट करके मैच को अकेले बदल दिया। हालांकि यह पहला मौका नहीं था जब बाएं हाथ इस गेंदबाज ने भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया। 2016 के एशिया कप में, उन्होंने रोहित और धवन को आउट किया था लेकिन उस समय कोहली ने अपनी टीम को फिनिश लाइन के पार पहुंचाया था। 

जब भारत ने एशिया कप में पाक को लगातार दो बार हराया (एशिया कप 2018)

एशिया कप के भारत-पाक के पहले मुकाबले में भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान को मात्र 162 के कुल स्कोर ऑल आउट कर दिया था। इस मैच में भुवनेश्वर कुमार और केदार जाधव ने तीन विकेट झटके थे। जबकि बुमराह को दो विकेट मिले थे। भारतीय टीम ने 8 विकेट बड़ी जीत हासिल की थी। लेकिन इसी टूर्नामेंट में भारत पाक अंतिम 4 के मुकाबले में एक बार फिर आमने सामने थे। इस बार पाकिस्तान ने अनुभवी शोएब मलिक की पारी के दम पर 237/7 का अच्छा स्कोर खड़ा किया। लेकिन इसे रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ने मजाक बना दिया दोनों ने पहले विकेट के लिए 210 रनों की साझेदारी कर डाली। रोहित ने रायुडू के साथ मिलकर काम खत्म किया और भारत ने 9 विकेट ये मुकाबला जीता। उसके बाद से भारत और पाकिस्तान अब वर्ल्ड कप में एक दूसरे से भिड़ने को तैयार हैं। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड