1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. बीमा कंपनियों के पास बिना दावे के पड़े हैं 15,167 करोड़ रुपए, अकेले LIC के पास पड़े हैं 10509 करोड़ रुपए

बीमा कंपनियों के पास बिना दावे के पड़े हैं 15,167 करोड़ रुपए, अकेले LIC के पास पड़े हैं 10509 करोड़ रुपए

देश की 23 बीमा कंपनियों के पास बीमाधारकों का 15,167 करोड़ रुपए बिना दावे का पड़ा है। इस पैसे का कोई लेनदार नहीं है।

Manish Mishra Manish Mishra
Updated on: July 29, 2018 15:31 IST
Uncliamed Amount- India TV Paisa

Uncliamed Amount

नई दिल्ली। देश की 23 बीमा कंपनियों के पास बीमाधारकों का 15,167 करोड़ रुपए बिना दावे का पड़ा है। इस पैसे का कोई लेनदार नहीं है। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने बीमा कंपनियों से इस तरह के बीमाधारकों की पहचान करने और उन्हें उनका पैसा देने के निर्देश दिए हैं। हर बीमा कंपनी में पॉलिसीधारक की सुरक्षा के लिए बनायी गई निदेशक स्तरीय समिति को जिम्मेदारी दी गई है कि वह बीमाधारकों के सभी बकायों का समय से भुगतान करे।

बिना दावे वाली कुल 15,166.47 करोड़ रुपए की राशि में से भारतीय जीवन बीमा निगम के पास अकेले ही 10,509 करोड़ रुपए पड़े हैं। जबकि निजी क्षेत्र की अन्य 22 बीमा कंपनियों के पास ऐसे 4,657.45 करोड़ रुपए पड़े हैं जिनका कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है।

निजी बीमा कंपनियों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के पास 807.4 करोड़ रुपए, रिलायंस निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस के पास 696.12 करोड़ रुपए, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस के पास 678.59 करोड़ रुपए और एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस में 659.3 करोड़ रुपए पड़े हैं।

IRDAI ने इन जीवन बीमा कंपनियों से कहा है कि वह सभी अपनी वेबसाइट पर एक खोज सुविधा उपलब्ध करायें जिसपर पॉलिसी धारक अथवा लाभार्थी या फिर उनके परिवार के सदस्य इस बात का पता लगा सकें कि क्या उनका कोई बकाया कंपनी के पास लंबित है।

पालिसीधारक को बीमा कंपनियों की वेबसाइट पर अपना पालिसी नंबर, पैन, नाम, जन्मतिथि और आधार नंबर आदि डालना होगा। बीमा कंपनियों से यह भी कहा गया है कि वह हर छह महीने में उनके पास पड़ी बिना दावे के बीमा राशि के बारे में जानकारी को अद्यतन करें।

Write a comment