1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. Internet Banking को बनाएं और ज्‍यादा सुरक्षित, नहीं लगा पाएगा कोई चूना

Internet Banking को बनाएं और ज्‍यादा सुरक्षित, नहीं लगा पाएगा कोई चूना

Internet Banking का इस्‍तेमाल करते समय खास सावधानी बरतने की जरूरत है। नहीं तो, धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं। जानिए, बचने के क्‍या हैं उपाय।

Manish Mishra [Published on:28 Oct 2016, 7:36 AM IST]
Be Cautious : Internet Banking को बनाएं और ज्‍यादा सुरक्षित, नहीं लगा पाएगा कोई चूना- IndiaTV Paisa
Be Cautious : Internet Banking को बनाएं और ज्‍यादा सुरक्षित, नहीं लगा पाएगा कोई चूना

नई दिल्‍ली। इंटरनेट बैंकिंग काफी तेजी से बिल का पेमेंट करने या पैसे ट्रांसफर करने का सुविधाजनक जरिया बन गया है। इससे बैंक जाकर लंबी लाइन में खड़े होने से भी लोग बच जाते हैं और सारा काम घर बैठे सिर्फ कुछ क्लिक के जरिए बड़ी आसानी से हो जाता है। हालांकि, Internet Banking का इस्‍तेमाल करते समय खास सावधानी बरतने की जरूरत है। नहीं तो, धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं। आइए, आज Internet Banking को सुरक्षित करने के ऐसे ही कुछ तरीकों की चर्चा करते हैं।

यह भी पढ़ें :

नियमित तौर पर बदलें अपना पासवर्ड 

  • समय-समय पर अपने Internet Banking का पासवर्ड बदलते रहें।
  • अपने पासवर्ड को हर बार गोपनीय रखें और उसे किसी के साथ साझा ना करें।
  • अगर आप कई बैंक अकाउंट के  नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो अपने सभी पासवर्ड को कभी भी एक जगह ऑनलाइन सुरक्षित न रखें।
  • इन पासवर्ड्स को कहीं किसी डायरी में सुरक्षित रखना ज्‍यादा अच्‍छा रहेगा।

पब्लिक कंप्यूटर पर Internet Banking का इस्‍तेमाल न करें

  • जहां तक संभव हो तो साइबर कैफे या लाइब्रेरी जैसी जगहों के कंप्यूटर पर Internet Banking करने से बचें।
  • ऐसी जगहें भीड़भाड़ वाली होती हैं और एक कंप्यूटर कई लोगों द्वारा इस्तेमाल भी किया जाता है।
  • ऐसे में दूसरों के द्वारा आपके पासवर्ड के देखने और चोरी किए जाने का जोखिम बढ़ जाता है।
  • अगर ज्‍यादा जरूरत है तो ऐसे कंप्‍यूटर से ब्राउजिंग हिस्‍ट्री और टेंपरेरी फाइल डिलीट करना कभी न भूलें।
  • इसके अलावा लॉगइन करते समय किसी भी ब्राउज़र में ‘रिमेंबर आईडी एंड पासवर्ड’ के ऑप्‍शन पर क्लिक न करें।

यह भी पढ़ें :

नेट बैंकिंग से जुड़ी जानकारी किसी से शेयर न करें

  • बैंक कभी भी आपके ATM PIN, जन्मतिथि जैसी गोपनीय और निजी जानकारी की सूचना फोन या ईमेल के जरिए नहीं पूछता है।
  • इस संबंध में लगातार बैंक SMS अलर्ट भी भेजते हैंं।
  • अपनी लॉगइन आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल बैंक के आधिकारिक साइट पर ही करें और यह एक सुरक्षित वेबसाइट होनी चाहिए।
  • इस बात पर गौर करें कि यूआरएल में ‘https://’लिखा हो। इसका मतलब होता है कि वेबसाइट सिक्योर है।

हमेशा इंटरनेट बैंकिंग का URL ही टाइप करें

  • इंटरनेट बैंकिंग के सुरक्षित इस्तेमाल के लिए जरूरी है कि ब्राउज़र के एड्रेस बार में जाकर अपने बैंक का URL टाइप करें।
  • कभी भी ईमेल में भेजे गए लिंक पर क्लिक न करें।
  • फर्जीवाड़े के लिए हैकर्स बैंक की ओरिजिनल वेबसाइट जैसी साइट डिजाइन कर वही लिंक ईमेल से भेजते हैं।
  • अगर आप ऐसी किसी फर्जी वेबसाइट पर एक बार लॉगइन करते हैं तो आपका अकाउंट हैक कर पैसे चुराए जा सकते हैं।
Web Title: Be Cautious : Internet Banking को बनाएं और ज्‍यादा सुरक्षित, नहीं लगा पाएगा कोई चूना
Write a comment