1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. Alert : आपके मोबाइल फोन के सेंसर्स लीक कर सकते हैं पासवर्ड और पिन, विशेषज्ञों ने किया खुलासा

Alert : आपके मोबाइल फोन के सेंसर्स लीक कर सकते हैं पासवर्ड और पिन, विशेषज्ञों ने किया खुलासा

विशेषज्ञों की मानें तो मोबाइल फोन पर टाइप किए जाने वाले पासवर्ड और पिन को हैकर्स फोन के सेंसर्स की मदद से बड़ी आसानी से चुरा सकते हैं।

Manish Mishra Manish Mishra
Updated on: April 14, 2017 9:59 IST
Alert : आपके मोबाइल फोन के सेंसर्स लीक कर सकते हैं पासवर्ड और पिन, विशेषज्ञों ने किया खुलासा- India TV Paisa
Alert : आपके मोबाइल फोन के सेंसर्स लीक कर सकते हैं पासवर्ड और पिन, विशेषज्ञों ने किया खुलासा

लंदन। स्‍मार्टफोन का चलन बढ़ने के साथ ही ज्‍यादातर लोगों के सोशल अकाउंट से लेकर बैंक अकाउंट तक फोन पर सिमट गए हैं। इन खास एप्‍प को सुरक्षित रखने के लिए हम पासवर्ड का इस्‍तेमाल करते हैं। ब्राउजर के जरिए किसी अकाउंट को खोलने के लिए भी हम पासवर्ड का इस्‍तेमाल करते हैं। हालांकि, विशेषज्ञों की मानें तो मोबाइल फोन पर टाइप किए जाने वाले पासवर्ड और पिन को हैकर्स बड़ी आसानी से चुरा सकते हैं। ब्रिटेन की न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों की ताजा रिसर्च तो यही कहती है।

विशेषज्ञों यह खुलासा करने के साथ-साथ चेतावनी भी दी है कि कुछ वेबसाइट्स और आपके फोन में इंस्‍टॉल हुई कोई ऐप कितनी आसानी से आपकी जासूसी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : रूसी जासूसों पर Yahoo अकाउंट हैक करने का आरोप, 50 करोड़ उपभोक्‍ताओं की निजी जानकारियां हुई थीं चोरी

एक बार में ही 4 अंकों वाले पिन के पता चलने की संभावना 70 फीसदी

साइबर मामलों के जानकार कहते हैं कि स्मार्टफोन की हरकत से इस बात का पता चलता है कि कीबोर्ड का किस तरह से इस्तेमाल किया गया होगा। न्‍यूकैसल यूनिवर्सिटी के साइबर विशेषज्ञों का दावा है कि 4 अंकों वाले पिन को एक बार में सुलझाने में सही होने की संभावना 70 फीसदी तक रही और पांचवीं कोशिश में तो सफलता की दर 100 फीसदी थी।

खतरे के बावजूद, रिसर्च से पता चलता है कि लोग इस जोखिम से अबतक अनजान हैं और हममें से ज्‍यादातर को वास्‍तव में इस बात का पता ही नहीं है कि आज के दौर के स्‍मार्टफोन में मौजूद 25 अलग-अलग तरह के सेंसर आखिर करते क्‍या हैं।

समस्‍या तो जानते हैं लेकिन उसका तोड़ नहीं

साइबर वैज्ञानिकों का कहना है कि टेक्नोलॉजी आधारित कंपनियों को इस समस्या के बारे में जानकारी तो है लेकिन उन्हें इसके सुलझाने के तरीके के बारे में जानकारी नहीं है। न्‍यूकैसल यूनिवर्सिटी की रिसर्च फेलो मरियम मेहरनेजाद ने बताया कि ज्‍यादातर स्‍मार्टफोन, टैबलेट और वियरेबल उपकरण कई तरह से सेंसर से लैस होते हैं। इनमें सबसे ज्‍यादा कॉमन नाम हैं GPS, कैमरा और माइक्रोफोन। इनके अलावा गायरोस्‍कोप, प्रॉक्सिमिटी, NFC और रोटेशन सेंसर एवं एक्‍सेलरोमीटर।

तस्‍वीरों में देखिए बेस्‍ट सेल्‍फी फोन

Selfie Smartphone new

micromax (2)IndiaTV Paisa

panasonic (1)IndiaTV Paisa

intex (5)IndiaTV Paisa

lava (2)IndiaTV Paisa

infocus (1)IndiaTV Paisa

लेकिन चूं‍कि मोबाइल ऐप्‍स एवं वेबसाइटों को प्राय: इन सेंसर्स में से ज्‍यादातर का इस्‍तेमाल करने के लिए यूजर की अनुमति लेने की जरूरत नहीं पड़ती, ऐसे में कुछ असुरक्षित प्रोग्राम चोरी-चुपके आपके सेंसर्स से डाटा चुरा सकते हैं और उसका इस्‍तेमाल संवेदनशील जानकारी जैसे कि कॉल करने की टाइमिंग, शारीरिक गतिविधि, यहां तक कि आपके टच एक्‍शन, पिन और पासवर्ड तक की चोरी हो सकती है।

यह भी पढ़ें : अमेजन पर शुरू हुई TCL के LED TV की ‘बिग सेल’, मिल रहा है Rs.15,000 का डिस्‍काउंट

मेहरनेजाद ने बताया कि,

ज्‍यादा चिंता की बात यह है कि कुछ ब्राउजर, जिनमें हमने पाया कि जब आप उन्‍हें अपने मोबाइल या टैबलेट पर खोलते हैं, वो पहले गड़बड़ी पैदा करने वाले कोड को होस्‍ट करते हैं फिर खुलते हैं। उदाहरण के लिए अगर आप ब्राउजर का पिछला टैब बंद किए बगैर नए टैब में अपने ऑनलाइन बैंकिंग का पेज खोलते हैं तो वह आपके द्वारा दर्ज की गई हर निजी जानकारी चुरा सकते हैं।

आम चुनाव से जुड़ी ताजा खबरों, लोकसभा चुनाव 2019 की खबरों, चुनावों से जुड़े लाइव अपडेट्स और चुनाव परिणामों के लिए https://hindi.indiatvnews.com/elections पर बने रहें। इसके साथ ही हमें फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करके या #ElectionsWithIndiaTV हैशटैग का इस्तेमाल करके 543 लोकसभा सीटें और विधानसभा चुनावों से जुड़े ताजा परिणाम पाएं। आप #ResultsWithRajatSharma हैशटैग का इस्तेमाल करके इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के साथ 23 मई को चुनाव परिणामों की पल-पल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
Write a comment
india-tv-counting-day-contest
modi-on-india-tv