1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. Important To Know: कहीं तुरंत तो कहीं घंटों में होता है फंड ट्रांसफर, जानिए क्‍या हैं ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के नियम

Important To Know: कहीं तुरंत तो कहीं घंटों में होता है फंड ट्रांसफर, जानिए क्‍या हैं ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के नियम

ऑनलाइन फंड ट्रांसफर से पहले सभी विकल्‍प और उनके चार्ज के बारे में पूरी जानकारी होनी जरूरी है। जानिए मनी ट्रांसफर से जुड़ी खास बातें, जो करे हर टेंशन को दूर।

Shubham Shankdhar [Updated:05 Nov 2015, 4:55 PM IST]
Important To Know: कहीं तुरंत तो कहीं घंटों में होता है फंड ट्रांसफर, जानिए क्‍या हैं ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के नियम- India TV Paisa
Important To Know: कहीं तुरंत तो कहीं घंटों में होता है फंड ट्रांसफर, जानिए क्‍या हैं ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के नियम

नई दिल्‍ली। इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग ने हमारे लिए मनी ट्रांसफर करना बेहद आसान कर दिया है। आज आप कहीं से, कभी भी और कितने भी रुपए एक एकाउंट से दूसरे एकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं। बैंक अलग जरूरत और अलग राशि के लिए इंटर बैंक ट्रांसफर, एनईएफटी, आरटीजीएस, आईएमपीएस, ईसीएमएस जैसे कई मनी ट्रांसफर ऑप्‍शन देते हैं। इनके लिए बैंकों के चार्जेस भी अलग-अलग होते हैं। ऐसे में ऑनलाइन या मोबाइल से पैसा भेजने से पहले आपको इन सभी ऑप्‍शंस और उनके चार्ज के बारे में पूरी जानकारी होनी जरूरी है। यहां हम आपको बता रहे हैं ऑनलाइन मनी ट्रांसफर से जुड़ी खास बातें, जो मनी ट्रांसफर से जुड़ी हर टेंशन को कर देगी दूर।

ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के विकल्‍प

इंटरनेट के माध्‍यम से किसी अन्‍य बैंक के एकाउंट में मनी ट्रांसफर के लिए बैंक मुख्‍यतया एनईएफटी (नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर) और आरटीजीएस (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्‍टम) विकल्‍प मुहैया कराते हैं। इसके अलावा अपने ही बैंक में स्‍वयं के एकाउंट या किसी तीसरे व्‍यक्ति के खाते में पैसा जमा करने के लिए इंटर बैंक मनी ट्रांसफर का विकल्‍प देते हैं। इसके अलावा आप आईएमपीएस (इंटरबैंक मोबाइल पेमेंट सर्विस) के माध्‍यम से भी पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। यह सर्विस मूलत: मोबाइल पेमेंट के लिए है, लेकिन कई बैंक आईएमपीएस सर्विस इंटरनेट बैंकिंग में भी प्रदान करते हैं।

ये भी पढ़ें – इस साल भारत में मनीआर्डर से 4683 अरब रुपए आने का अनुमान: वर्ल्ड बैंक

इंटर बैंक और इंटर एकाउंट मनी ट्रांसफर:  इसमें पैसे का लेन-देन बैंक के नेटवर्क के भीतर होता है। ऐसे में यह सिस्‍टम रियल टाइम आधार पर चलता है। एकाउंट होल्‍डर किसी भी वक्‍त अपने या उसी बैंक में किसी तीसरे व्‍यक्ति के एकाउंट में मनी ट्रांसफर कर सकता है। ट्रांसफर की गई राशि तुरंत उस एकाउंट में क्रेडिट हो जाती है। इसमें मनी ट्रांसफर की लिमिट नहीं होती। इस सुविधा के लिए बैंक कोई चार्ज नहीं वसूलते हैं।

 एनईएफटी: नेशनल इलेक्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर ठीक उसी तरह काम करता है, जिस तरह हम बैंक में जाकर काउंटर पर पैसा जमा करवाते हैं। ऐसे में तहत सामान्‍य बैंकिंग कार्यदिवसों में सुबह 8 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक मनी ट्रांसफर कर सकते हैं। दूसरे और चौथे शनिवार, रविवार या सार्वजनिक अवकाश के दिन, जब बैंक बंद होते हैं, एनईएफटी से मनी ट्रांसफर नहीं की जा सकती। एनईएफटी के तहत आप 1 रुपए से लेकर 5 लाख रुपए तक फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। बैंक इसके लिए 2.5 रुपए से लेकर 25 रुपए तक चार्ज करते हैं।

आरटीजीएस: रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्‍टम मनी ट्रांसफर का एक तेज जरिया है। इस सिस्‍टम में 24 घंटे में कभी भी फंड ट्रांसफर किया जा सकता है। मनी ट्रांसफर करने के तुरंत बाद से लेकर अधिकतम 2 घंटे के भीतर पैसा संबंधित खाते में जमा हो जाता है। यदि बैंक दो घंटे के भीतर यह राशि बैंक खाते में जमा नहीं कर पाता, तो यह राशि पैसा भेजने वाले के खाते में जमा हो जाती है। बैंक इसके लिए 25 रुपए से 50 रुपए तक चार्ज करते हैं। बैंकिंग टाइमिंग के बाद फंड ट्रांसफर के लिए आपको अतिरिक्‍त चार्ज देना होगा।

आईएमपीएस: इंटर बैंक मोबाइल पेमेंट सर्विस छोटी राशि ट्रांसफर करने का तीव्र जरिया है। यह प्‍लेटफॉर्म मूलत: मोबाइल बैंकिंग के तहत फंड ट्रांसफर और ऑनलाइन शॉपिंग के लिए तैयार किया गया है। इसके तहत फंड ट्रांसफर की कोई मिनिमम लिमिट नहीं होती। बैंक इसके लिए 5 से 15 रुपए तक चार्ज करते हैं। आईएमपीएस के तहत इंटरनेट बैंकिंग के अलावा मोबाइल नंबर पर भी मनी ट्रांसफर कर सकते हैं।

एनईएफटी और आरटीजीएस में ऐसे जोड़ें बैनेफिशियरी

आरटीजीएस या एनईएफटी के तहत मनी ट्रांसफर से पहले सबसे जरूरी कदम बैनेफिशियरी (जिसके अकाउंट में फंड ट्रांसफर करना है) को जोड़ना होता है। इसके लिए अपने बैंक की नेट बैंकिंग वेबसाइट पर जाकर नए बैनेफिशियरी को जोड़ने के ऑप्‍शन पर जाएं। यहां आपको अकाउंट होल्‍डर के बैंक का नाम, ब्रांच एड्रेस, आईएफएससी कोड, अकाउंट होल्‍डर का नाम, अकाउंट नंबर और ट्रांसफर लिमिट भरना होता है। सामान्‍यतया 12 से 16 घंटे के भीतर नया बैनेफिशियरी आपके अकाउंट से जुड़ जाता है।

कैसे करें आईएमपीएस से फंड ट्रांसफर

अगर आप आईएमपीएस के जरिए पैसे भेजना चाहते हैं, तो बैंक दो तरह की सुविधाएं देते हैं। इसके तहत एनईएफटी अकाउंट को इनस्‍टेंट मनी ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा अपने बैंक की मोबाइल बैंकिंग सर्विस के साथ खुद को रजिस्‍टर कर फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके बाद आपको अपने बैंक से एमएमआईडी (मोबाइल मनी आइडेंटिफायर) और एमपिन लेना होगा। जिस व्यक्ति को आप पैसे भेजना चाहते हैं, उसे अपने मोबाइल नंबर को अपने बैंक खाते के साथ जोड़ना होगा। उसे भी अपने बैंक से एमएमआईडी हासिल करना होगा। पैसे भेजने के लिए बेनेफिशियरी का मोबाइल नंबर, उसका एमएमआईडी, एमाउंट (जो भेजा जाना है) और अपना एमपिन दर्ज करें।

Web Title: ऑलनाइन फंड ट्रांसफर के लिए जानिए क्‍या हैं नियम
Write a comment