1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. अगले हफ्ते पीएमआई आंकड़े, रिजर्व बैंक के ब्याज दर के निर्णय से पड़ेगा बाजार पर असर

अगले हफ्ते पीएमआई आंकड़े, रिजर्व बैंक के ब्याज दर के निर्णय से पड़ेगा बाजार पर असर

India TV Tech Desk India TV Tech Desk
Published on: March 31, 2019 13:40 IST
Stock Market - India TV Paisa
Photo:PTI

Stock Market 

भारतीय रिजर्व बैंक के ब्याज दर से संबंधित निर्णय समेत अन्य वृहद आर्थिक आंकड़े इस सप्ताह बाजार की चाल तय करेंगे। बाजार विश्लेषकों ने यह राय जाहिर की है। भारतीय रिजर्व बैंक चार अप्रैल को ब्याज दर के बारे में फैसला लेने वाला है। इस सप्ताह विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के लिए पीएमआई आंकड़े भी जारी होंगे। 

सोमवार को वाहन क्षेत्र के मासिक बिक्री आंकड़े आने वाले हैं। इस कारण वाहन कंपनियों के शेयरों पर निवेशकों की निगाहें रहेंगी। 

बाजार विश्लेषकों ने कहा कि इसके अलावा विदेशी निवेश, रुपये का रुख और अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता के नतीजों पर निवेशकों की नजर होगी। प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने शुक्रवार को 86.21 करोड़ रुपये के शेयर बेचे, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने 1,724.39 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। इस बीच, शुक्रवार को रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 16 पैसे बढ़कर 69.14 के स्तर पर बंद हुआ। 

कैपिटल ऐम के अनुसंधान प्रमुख, देवब्रत भट्टाचार्जी ने कहा, "निवेशकों को इस सप्ताह के लिए भारतीय बाजार में होने वाली तमाम घटनाओं को देखना चाहिए। जहां, मंगलवार को निक्की विनिर्माण पीएमआई पर नजर रखी जायेगी जबकि बृहस्पतिवार को आरबीआई की मौद्रिक नीति पर ध्यान रखा जायेगा। वाहन कंपनियों के बिक्री के आंकड़े इस सप्ताह आ रहे हैं जिससे वाहन कंपनियों के शेयरों पर निवेशकों की निगाह रहेगी।’’ 

पिछले सप्ताह के मुकाबले सेंसेक्स 508 अंक या 1.33 प्रतिशत की तेजी दर्शाता बंद हुआ। जबकि निफ्टी में 167 अंक या 1.45 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘एफआईआई की आमद के कारण विकासशील बाजारों के बीच भारत का बेहतर प्रदर्शन जारी रहने की संभावना है।’’ इस सप्ताह के बाद नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत हो रही है, इसलिए सभी की निगाहें 11 अप्रैल को सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनावों पर टिकी हैं।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban