1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. बड़ी से ज्‍यादा छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया रिटर्न, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में हुआ 3,700 करोड़ रुपए का निवेश

बड़ी से ज्‍यादा छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया रिटर्न, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में हुआ 3,700 करोड़ रुपए का निवेश

इस साल अभी तक स्माल कैप और मिडकैप शेयरों का प्रदर्शन ब्लूचिप कंपनियों से बेहतर रहा है। छोटी कंपनियों के शेयरों ने 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है।

Abhishek Shrivastava [Updated:11 Oct 2016, 1:49 PM IST]
बड़ी से ज्‍यादा छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया रिटर्न, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में हुआ 3,700 करोड़ रुपए का निवेश- IndiaTV Paisa
बड़ी से ज्‍यादा छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया रिटर्न, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में हुआ 3,700 करोड़ रुपए का निवेश

नई दिल्‍ली।  इस साल अभी तक स्माल कैप और मिडकैप शेयरों का प्रदर्शन ब्लूचिप कंपनियों से बेहतर रहा है। छोटी कंपनियों के शेयरों ने अभी तक साल के दौरान 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। साल के दौरान मिडकैप सूचकांक का प्रदर्शन ज्यादा बेहतर रहा है।

यह 2,371.97 अंक या 21.28 प्रतिशत की बढ़त के साथ 13,515.05 अंक पर पहुंच गया है। वहीं स्माल कैप 11.98 प्रतिशत या 1,419.22 अंक की बढ़त के साथ 13,255.93 अंक रहा है।

  • बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स अभी तक 1,964.8 अंक या 7.52 प्रतिशत की बढ़त के साथ 28,082.34 अंक पर पहुंचा है।
  • मिडकैप सूचकांक 6 अक्‍टूबर को अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 13,713.09 अंक पर पहुंचा था।
  • उसी दिन स्मालकैप ने अपना 13,381.31 अंक का रिकॉर्ड स्तर छुआ था।
  • सेंसेक्स 8 सितंबर, 2016 को अपने 52 सप्ताह के शीर्ष स्तर 29,077.28 अंक पर पहुंचा था।
  • मासिक आधार पर सेंसेक्स मार्च से सितंबर तक लगातार बढ़त दर्ज करता रहा है।
  • पिछले साल भी मिडकैप और स्मालकैप शेयरों ने बड़ी कंपनियों की तुलना में निवेशकों को अधिक यानी औसतन 7.4 प्रतिशत का रिटर्न दिया था।
  • वर्ष 2015 में सेंसेक्स 1,381.88 अंक या पांच प्रतिशत टूटा था, जबकि 2014 में इसमें करीब 30 प्रतिशत की बढ़त रही थी।

सितंबर में इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में हुआ 3,700 करोड़ रुपए का निवेश 

इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में सितंबर माह में 3,700 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। इस तरह चालू वित्त वर्ष के पहले छह माह में इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में कुल निवेश का आंकड़ा 22,000 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। इस तरह यह लगातार छठा महीना है, जबकि इक्विटी योजनाओं में निवेश का प्रवाह सकारात्मक रहा है। इससे पहले मार्च में ऐसे कोषों से 1,370 करोड़ रुपए की निकासी हुई थी।

बजाज कैपिटल समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अनिल चोपड़ा ने कहा,

शेयर और रिण बाजार दोनों में सकारात्मक और आशावादी माहौल की वजह से इक्विटी योजनाओं में प्रवाह बढ़ा है।  इसकी वजह कंपनियों के बेहतर नतीजे, जीएसटी विधेयक पर सुगम प्रगति तथा अमेरिकी अर्थव्यवस्था के सकारात्मक आंकड़े हैं।

Web Title: बड़े से ज्‍यादा छोटी कंपनियों के शेयरों ने दिया रिटर्न
Write a comment