1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से Sensex-nifty में बड़ी गिरावट, तेल एवं गैस कंपनियों के शेयर टूटे

कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से Sensex-nifty में बड़ी गिरावट, तेल एवं गैस कंपनियों के शेयर टूटे

सप्ताह के पहले कारोबारी दिन आज सोमवार को शेयर बाजार लाल निशान के साथ खुले। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी का कारण ऑयल एंड गैस, ऑटो और बैंकिंग सेक्टर के शेयरों बिकवाली के कारण घरेलू शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पहले दिन आज बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: September 16, 2019 11:49 IST
Sensex and nifty open with big down- India TV Paisa

Sensex and nifty open with big down

मुंबई। सप्ताह के पहले कारोबारी दिन आज सोमवार को शेयर बाजार लाल निशान के साथ खुले। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी का कारण ऑयल एंड गैस, ऑटो और बैंकिंग सेक्टर के शेयरों बिकवाली के कारण घरेलू शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पहले दिन आज बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में तेजी होने के चलते तेल एवं गैस कंपनियों के शेयर में गिरावट देखी जा रही है। 

सऊदी अरब की ऑयल कंपनी अरामको पर ड्रोन हमले के बाद उप्पादन पर असर पड़ा है और कंपनी का प्रोडक्शन 5 प्रतिशत कम हो गया है। इसके चलते ग्लोबल ऑयल प्राइस में रिकॉर्ड तेजी देखने को मिली है। सऊदी अरब ने अपने तेल उत्पादन में कटौती की है। इसके वजह से घरेलू स्तर पर हिंदुस्तान पेट्रोलियम, भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल, कैस्ट्रोल इंडिया और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में सात प्रतिशत तक की गिरावट देखी गयी। ब्रेंट कच्चा तेल भाव सोमवार को 9.86 प्रतिशत की तेजी के साथ 66.16 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा है। आरंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को शेयर बाजार से 405.45 करोड़ रुपए की निकासी की।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 कंपनियों का शेयर सूचकांक सेंसेक्स 37,111.29 अंक के निचले स्तर को छूने के बाद पिछले बंद के मुकाबले 210.02 अंक यानी 0.56 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,174.97 अंक पर कारोबार कर रहा है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों का संवेदी सूचकांक निफ्टी 64.15 अंक यानी 0.58 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,011.75 अंक पर चल रहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक शनिवार को सऊदी अरब के तेल कुओं पर ड्रोन से दो हमले होने के बाद ब्रेंट कच्चा तेल के भाव में तेजी देखी गयी है। 

सोमवार को अमेरिकी बाजारों में ब्रैंट की कीमतों में 12 डॉलर प्रति बैरल की तेजी देखने को मिली है। ये इंट्रा डे में 1988 के बाद की सबसे बड़ी तेजी है। भारत दुनिया का तीसरा तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। भारत सरकार खाड़ी के देशों में हो रही हलचलों को करीब से देख रही है। सऊदी अरब दुनिया भर में सप्लाई होने वाले तेल का 10 परसेंट हिस्सा एक्सपोर्ट करता है और साथ ही भारत के लिए क्रू़ड और कुकिंग गैस के लिए दूसरा बड़ा आयातक है।

शुरुआती कारोबार में रुपया 68 पैसे कमजोर 

शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को 68 पैसे टूटकर 71.60 पर खुला। कच्चे तेल की वैश्विक कीमतों में तेज उछाल के चलते निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है। मुद्रा कारोबारियों के अनुसार सऊदी अरब में तेल के कुओं पर ड्रोन से हमले के बाद वहां कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती की गयी है। इस वजह से तेल की कीमतों में वृद्धि हुई जिसके चलते निवेशकों के बीच चिंता देखी गयी।

ब्रेंट कच्चा तेल भाव सोमवार को 9.86 प्रतिशत की तेजी के साथ 66.16 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा है। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार पर रुपया 71.54 रुपए प्रति डॉलर पर खुला और जल्द ही पिछले बंद के मुकाबले 68 पैसे गिरकर यह 71.60 रुपए प्रति डॉलर पर चल रहा है। शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 70.92 पर बंद हुआ था। आरंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को शेयर बाजार से 405.45 करोड़ रुपए की निकासी की।

Write a comment
bigg-boss-13