1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजारों में गिरावट, सेंसेक्स 79 अंक नीचे

कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच शेयर बाजारों में गिरावट, सेंसेक्स 79 अंक नीचे

प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 79.13 अंकों की गिरावट के साथ 35,158.55 पर और निफ्टी 13.20 अंकों की गिरावट के साथ 10,585.20 पर बंद हुआ।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 09, 2018 17:46 IST
Share market: Sensex closes 79 points lower, Nifty at 10,585- India TV Paisa

Share market: Sensex closes 79 points lower, Nifty at 10,585 | PTI

मुंबई: अमेरिका में नीतिगत ब्याज दर में अगले माह फिर बढ़ोतरी किए जाने के फेडरल रिजर्व के संकेत और वैश्विक बाजारों में कमजोरी के रुझानों के बीच शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजारों में हल्की गिरावट देखने को मिली। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 79.13 अंकों की गिरावट के साथ 35,158.55 पर और निफ्टी 13.20 अंकों की गिरावट के साथ 10,585.20 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 20.45 अंकों की तेजी के साथ 35,258.13 पर खुला और 79.13 अंकों या 0.22 फीसदी गिरावट के साथ 35,158.55 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 35,287.29 के ऊपरी और 35,011.23 के निचले स्तर को छुआ।

सेंसेक्स के 30 में से 17 शेयरों में तेजी रही। यस बैंक (5.49 फीसदी), एशियन पेंट्स (3.79 फीसदी), अडानी पोर्ट्स (3.14 फीसदी), सन फार्मा (2.32 फीसदी) और हीरो मोटोकॉर्प (2.08 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -भारती एयरटेल (2.45 फीसदी), इंफोसिस (2.15 फीसदी), टीसीएस (1.70 फीसदी), रिलायंस (1.55 फीसदी) और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (1.27 फीसदी)। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में तेजी रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 97.36 अंकों की तेजी के साथ 14,944.20 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 85.13 अंकों की तेजी के साथ 14,671.85 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 16.3 अंकों की तेजी के साथ 10,614.70 पर खुला और 13.20 अंकों या 0.12 फीसदी गिरावट के साथ 10,585.20 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,619.55 के ऊपरी और 10,544.85 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के 19 में से 11 सेक्टरों में तेजी रही। स्वास्थ्य सेवाएं (1.08 फीसदी), उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं (0.85 फीसदी), उपभोक्ता गैर-अनिवार्य वस्तु एवं सेवाएं (0.85 फीसदी), वाहन (0.55 फीसदी) और तेल और गैस (0.47 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे -सूचना प्रौद्योगिकी (1.19 फीसदी), प्रौद्योगिकी (1.06 फीसदी), धातु (1.00 फीसदी), दूरसंचार (0.58 फीसदी) और ऊर्जा (0.57 फीसदी)। बीएसई में कारोबार का रुझान सकारात्मक रहा। कुल 1,321 शेयरों में तेजी और 1,225 में गिरावट रही, जबकि 133 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।

बाजार के जानकार लोगों के अनुसार वैश्विक बाजारों में से कमजारी के संकेतों के बीच बाजार में घट-बढ़ सीमित दायरे में रही। स्थानीय निवेशकों को खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों का इंतजार है। अक्टूबर की मुद्रास्फीति के आंकडे़ सोमवार को आने हैं। हाल में ईंधन पर करों के घटाने से इस बार खुदरा मुद्रास्फीति नीचे रहने की उम्मीद है। बाजार के जानकारों का यह भी कहना है कि आगामी विधानसभा चुनावों और कच्चे तेल की कीमतों में कमी पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी। इसके अलावा रुपये में मजबूती और बॉन्ड यील्ड (बॉन्ड में निवेश पर प्राप्तियों) की दिशा से भी बाजार की दिशा तय होगी।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban