1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. बीएसई सेंसेक्स 311 अंक और लुढ़का, एनएसई निफ्टी 10,700 अंक से नीचे आया

बीएसई सेंसेक्स 311 अंक और लुढ़का, एनएसई निफ्टी 10,700 अंक से नीचे आया

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकान्त दास ने कहा है कि वह इस सप्ताह निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगे और उनसे नीतिगत दरों में कटौती का लाभ ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए कहेंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 18, 2019 17:06 IST
bse sensex- India TV Paisa
Photo:BSE SENSEX

bse sensex

मुंबई। बंबई शेयर बाजार में सोमवार को लगातार आठवें कारोबारी सत्र में गिरावट जारी रही और सेंसेक्स 311 अंक और लुढ़क गया। बैंकिंग, एफएमसीजी, आईटी, वाहन और फार्मा कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली तथा विदेशी कोषों की निकासी से बाजार में गिरावट का सिलसिला जारी रहा। 

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 310.51 अंक या 0.87 प्रतिशत के नुकसान से 35,498.44 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 83.45 अंक या 0.78 प्रतिशत के नुकसान से 10,640.95 अंक पर बंद हुआ। 

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकान्त दास ने कहा है कि वह इस सप्ताह निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगे और उनसे नीतिगत दरों में कटौती का लाभ ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए कहेंगे। इससे बैंकिंग शेयरों में गिरावट आई।

सेंसेक्स की कंपनियों में टीसीएस, यस बैंक, आईटीसी, सनफार्मा, रिलायंस, कोल इंडिया, एशियन पेंट्स, एसबीआई, मारुति, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचसीएल टेक और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर 2.91 प्रतिशत तक नीचे आ गए। 

वहीं दूसरी ओर ओएनजीसी, टाटा मोटर्स, एक्सिस बैंक, वेदांता, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक और एचडीएफसी के शेयर 1.48 प्रतिशत तक चढ़ गए। बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 1.04 प्रतिशत तक की गिरावट आई। 

इस बीच, अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में कारोबार के दौरान रुपया 21 पैसे के नुकसान से 71.44 प्रति डॉलर पर चल रहा था। ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 0.15 प्रतिशत चढ़कर 66.35 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को 966.43 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 853.25 करोड़ रुपए की लिवाली की। 

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban