1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सेंसेक्स 470 प्वाइंट बढ़कर 33066 पर बंद, सरकारी बैंकों के शेयरों में सबसे ज्यादा खरीदारी

सेंसेक्स 470 प्वाइंट बढ़कर 33066 पर बंद, सरकारी बैंकों के शेयरों में सबसे ज्यादा खरीदारी

शेयर बाजार में आज सरकारी बैंक शेयरों के निवेशकों को अच्चा मुनाफा हुआ है, सभी सरकारी बैंकों के शेयरों में तेजी दर्ज की गई है

Manoj Kumar Manoj Kumar
Updated on: March 26, 2018 15:44 IST
Sensex gain 470 points- India TV Paisa

Sensex gain 470 points while Nifty adds 140 points

नई दिल्ली। पिछले हफ्ते भारतीय शेयर बाजार में भारी गिरावट के बाद इस हफ्ते की शुरुआत शानदार तेजी के साथ हुई है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी जोरदार तेजी के साथ बंद हुए हैं। दिन के कारोबार में सेंसेक्स में 500 प्वाइंट से ज्यादा की मजबूती देखने को मिली थी लेकिन बाद में यह 469.87 प्वाइंट की मजबूती के साथ 33066.41 पर बंद हुआ है, सेंसेक्स ने दिन के कारोबार में 33115.41 का ऊपरी स्तर छुआ है। निफ्टी की बात करें तो वह भी 140 प्वाइंट की तेजी के साथ 10137.75 पर बंद हुआ है।

शेयर बाजार में आज आईटी इंडेक्स को छोड़ बाकी सभी सेक्टर इंडेक्स में जोरदार उछाल दर्ज किया गया है। सबसे ज्यादा मजबूती पीएसयू बैंक, मीडिया, बैंक निफ्टी, फाइनेशियल सर्विसेज और मेटल इंडेक्स में देखने को मिली है। पीएसयू बैंक इंडेक्स 5 प्रतिशत से ज्यादा की मजबूती के साथ बंद हुआ है। निफ्टी की 50 में से 39 कंपनियों के शेयर तेजी के साथ बंद हुए हैं जबकि सेंसेक्स की 30 में से 25 कंपनियों के शेयरों में उछाला आया है।

आज पीएसयू बैंक शेयरों में सबसे ज्यादा मजबूती देखी गई है, यही वजह है सेक्टर इंडेक्स में भी पीएसयू बैंक इंडेक्स सबसे ज्यादा बढ़ा है, शेयरों की बात करें तो केनरा बैंक का शेयर करीब 11 प्रतिशत, बैंक ऑफ बड़ौदा का करीब 7 प्रतिशत, यूनियन बैंक का शेयर 5.5 प्रतिशत से ज्यादा, स्टेट बैंक और इंडियन बैंक का शेयर भी 5 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है। पूरे पीएसयू बैंक इंडेक्स में ऐसा कोई भी बैंक नहीं है जिसके शेयर में तेजी नहीं आई हो।

भारतीय अर्थव्यवस्था का भविष्य मजबूत देखते हुए शेयर बाजार में आज जोरदार खरीदारी देखी गई है, वित्त मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक अगले 7 साल यानि 2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था 5 लाख करोड़ डॉलर तक पहुंच जाएगी। यानि मौजूदा स्तर से अर्थव्यवस्था का आकार दोगुना हो जाएगा।

Write a comment