1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के आखिरी दिन सेंसेक्स 27 अंक गिरकर बंद, जानिए अब कहां है बड़े रिटर्न पाने के मौके

फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के आखिरी दिन सेंसेक्स 27 अंक गिरकर बंद, जानिए अब कहां है बड़े रिटर्न पाने के मौके

सेंसेक्स 27 अंक गिरकर 29620 पर बंद हुआ है। वहीं, निफ्टी 9173.75 के स्तर पर क्लोज हुआ है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में बाजार ने 17% का रिटर्न दिया है।

Ankit Tyagi [Updated:31 Mar 2017, 3:55 PM IST]
फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के आखिरी दिन सेंसेक्स 27 अंक गिरकर बंद, जानिए अब कहां है बड़े रिटर्न पाने के मौके- IndiaTV Paisa
फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के आखिरी दिन सेंसेक्स 27 अंक गिरकर बंद, जानिए अब कहां है बड़े रिटर्न पाने के मौके

नई दिल्ली। हफ्ते के आखिरी कारोबारी सत्र में घरेलू शेयर बाजार में बेहद सुस्त कारोबार देखने को मिला है। प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स 135 अंक के दायरे में कारोबार करने के बाद अंत में सेंसेक्स 27 अंक की गिरावट के साथ 29620 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं, NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी बिना बदलाव के 9173.75 के स्तर पर क्लोज हुआ है। आपको बता दें कि आज फाइनेंशियल ईयर खत्म हो गया है। इस दौरान सेंसेक्स ने 17 फीसदी और निफ्टी ने 18 फीसदी का बड़ा रिटर्न निवेशकों को दिया है।

यह भी पढ़े:  इस फाइनेंशियल ईयर में सेंसेक्स पर भारी रहा है तेल-गैस और मेटल इंडेक्स का रिटर्न, 600 फीसदी तक चढ़े ये शेयर

आगे कैसी रहेगी बाजार की चाल

प्रभुदास लीलाधर के ज्वाइंट एमडी दिलीप भट्ट ने एक बिजनेस चैनल को दिए इंटरव्यु में कहा है कि

बाजार में लगातार इन्वेस्टमेंट बढ़ रहा है। इसीलिए लिक्विडिटी बढ़ने का फायदा बाजार को मिला है। उम्मीद करते हैं कि आगे जाकर भारतीय इकोनॉमी अच्छा परफॉर्म करेगी। लिहाजा कॉर्पोरेट अर्निंग पर इसका असर देखने को मिलेगा। फिलहाल बाजार में सेक्टर वाइज एप्रोच लेना इतना आसान नहीं होगा, क्योंकि बाजार के लगभग वैल्यूएशन बढ़ गए हैं। दिलीप भट को लगता है कि अक्टूबर-दिसंबर और जनवरी-मार्च तिमाही में विजबिलिटी काफी इम्प्रूव हो जाएगी और उसके हिसाब से बाजार को काफी अच्छा सहारा मिलेगा और भरोसा भी बढ़ेगा।

यह भी पढ़े: ये हैं 5 मालामाल करने वाले शेयर, छोटी अवधि में 100 फीसदी तक के मुनाफे की उम्मीद

क्या करें निवेशक

मार्केट एक्सपर्ट अंबरीश बलिगा का कहना है कि अगले 3-4 सालों में सीमेंट सेक्टर में जबर्दस्त ग्रोथ देखने को मिलेगी। लिहाजा, सीमेंट शेयरों में किसी भी गिरावट पर खरीदारी करने की रणनीति अपनानी चाहिए। मौजूदा स्तरों पर अंबुजा सीमेंट में खरीदारी करने की सलाह होगी। अंबुजा सीमेंट में 1-1.5 साल तक बने रहने की सलाह होगी।

विदेशी ब्रोकरेज ने बढ़ाया इन शेयरों का लक्ष्य

कैडिला हेल्थ

  • जेपी मॉर्गन ने न्यूट्रल रेटिंग के साथ कैडिला हेल्थ में कवरेज शुरू की है। जेपी मॉर्गन ने कैडिला हेल्थ के लिए 475 रुपए प्रति शेयर का लक्ष्य तय किया है।

कोटक महिंद्रा बैंक

  • सिटी ने कोटक महिंद्रा बैंक में निवेश की सलाह बरकरार रखी है। सिटी ने कोटक महिंद्रा बैंक के लिए 930 रुपये प्रति शेयर का लक्ष्य तय किया है।
  • सीएलएसए ने कोटक महिंद्रा बैंक को आउटपरफॉर्म रेटिंग दी है। सीएलएसए ने कोटक महिंद्रा बैंक के लिए 920 रुपये प्रति शेयर का लक्ष्य तय किया है।

यस बैंक

  • गोल्डमैन सैक्स ने यस बैंक में निवेश की सलाह दी है। गोल्डमैन सैक्स ने यस बैंक का लक्ष्य 1553 रुपये से बढ़ाकर 1700 रुफए कर दिया है।

कोलगेट

  • एचएसबीसी ने कोलगेट में निवेश की सलाह बरकरार रखी है। एचएसबीसी ने कोलगेट के लिए 1110 रुपए प्रति शेयर का लक्ष्य तय किया है।
Web Title: फाइनेंशियल ईयर 2016-17 के आखिरी दिन सेंसेक्स 27 अंक गिरकर बंद
Write a comment