1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. बाजार को रास नहीं आई रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, रेपो रेट घटने के बाद सेंसेक्‍स 192 अंक टूटा

बाजार को रास नहीं आई रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा, रेपो रेट घटने के बाद सेंसेक्‍स 192 अंक टूटा

चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 7.2 प्रतिशत किए जाने की वजह से निवेशक सतर्क थे। मानसून को लेकर चिंता से धारणा और प्रभावित हुई।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: April 04, 2019 16:48 IST
sensex fell- India TV Paisa
Photo:SENSEX FELL

sensex fell

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा के बाद गुरुवार को बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 192 अंक टूट गया। केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष की पहली मौद्रिक समीक्षा बैठक में 2019-20 के लिए वृद्धि दर के अनुमान को कम किया है। साथ ही मानसून को लेकर अनिश्चितता की वजह से अपनी नीतिगत रुख को तटस्थ रखा है। 

इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने मुख्य नीतिगत दर को 0.25 प्रतिशत घटा दिया है। लगातार दूसरी बार रेपो दर में कटौती की गई है। उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 192.40 अंक या 0.49 प्रतिशत के नुकसान से 38,684.72 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 45.95 अंक या 0.39 प्रतिशत के नुकसान से 11,600 अंक से नीचे 11,598 अंक पर बंद हुआ। 

सेंसेक्स की कंपनियों में टीसीएस में सबसे अधिक 3.17 प्रतिशत की गिरावट आई। एचसीएल टेक, यस बैंक, इंडसइंड बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, टाटा स्टील, कोटक बैंक और एलएंडटी के शेयर 2.34 प्रतिशत नीचे आ गए। वहीं दूसरी ओर टाटा मोटर्स, हीरो मोटोकॉर्प, भारती एयरटेल, एचडीएफसी, एशियन पेंट्स, वेदांता और सनफार्मा के शेयर 2.49 प्रतिशत तक चढ़ गए। 

बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 0.32 प्रतिशत तक की गिरावट आई। 

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 7.2 प्रतिशत किए जाने की वजह से निवेशक सतर्क थे। मानसून को लेकर चिंता से धारणा और प्रभावित हुई।  

इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को शेयर बाजारों से 1,040.48 करोड़ रुपए की निकासी की। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी 80.83 करोड़ रुपए की बिकवाली की। 

Write a comment