1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. Sensex 192 अंक टूटकर हुआ 39,394 पर बंद, Nifty आया 11,800 अंक से नीचे

Sensex 192 अंक टूटकर हुआ 39,394 पर बंद, Nifty आया 11,800 अंक से नीचे

कारोबारियों के अनुसार एशिया के अन्य बाजारों में कमजोर रुख का असर घरेलू बाजार पर भी पड़ा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 28, 2019 17:31 IST
Sensex ends 192 pts lower, Nifty below 11,800- India TV Paisa
Photo:NIFTY

Sensex ends 192 pts lower, Nifty below 11,800

मुंबई। वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक तथा टीसीएस के शेयरों में नुकसान से बीएसई सेंसेक्स शुक्रवार को 192 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ। 

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 191.77 अंक यानी 0.48 प्रतिशत की गिरावट के साथ 39,394.64 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह नीचे में 39,361.92 तथा ऊंचे में 39,675.25 अंक पर बंद हुआ। 

नेशनल स्‍टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 52.70 अंक अर्थात 0.45 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,788.85 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सूचकांक नीचे में 11,775.50 तथा ऊंचे में 11,871.70 अंक तक गया। 

सेंसेक्स में नुकसान में रहने वाले शेयरों में यस बैंक, इंडसइंड बैंक, टाटा मोटर्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज, ओएनजीसी, बजाज आटो, वेदांता, टाटा स्टील, टीसीएस, एचडीएफसी बैंक तथा आईसीआईसीआई बैंक शामिल हैं। इनमें 3.29 प्रतिशत तक की गिरावट आई। वहीं दूसरी तरफ बजाज फाइनेंस, एक्सिस बैंक, एनटीपीसी, मारुति, एचयूएल तथा टेक महिंद्रा 1.05 प्रतिशत तक मजबूत हुए। 

कारोबारियों के अनुसार एशिया के अन्य बाजारों में कमजोर रुख का असर घरेलू बाजार पर भी पड़ा। इसका कारण निवेशकों की जापान के ओसाका में हो रहे जी-20 शिखर सम्मेलन में व्यापार संबंधित गतिविधियों पर नजर है। इसके अलावा निवेशकों की भारत-अमेरिका चिंता को लेकर बैठक पर भी निगाह है। 

साथ ही सेबी के गुरुवार को म्यूचुअल फंड नियमों को कड़ा किये जाने से भी घरेलू कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। इसमें लिक्विड फंड योजनाएं बेचने वाले म्यूचुअल फंडों के लिए सरकारी प्रतिभूतियों और ट्रेजरी बिल जैसी नकदी समतुल्य तरल संपत्तियों में अपने धन का कम से कम 20 प्रतिशत निवेश अनिवार्य करना तथा शेयर गिरवी रख कर धन लेने वाली कंपनियों के साथ यथास्थिति बनाए रखने का कोई करार करने पर पाबंदी शामिल हैं। 

Write a comment