1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. इन छोटी कंपनियों के शेयरों में हैं बड़ी कमाई का मौका, एक साल में 100% तक के रिटर्न की उम्मीद

इन छोटी कंपनियों के शेयरों में हैं बड़ी कमाई का मौका, एक साल में 100% तक के रिटर्न की उम्मीद

अपार इंडस्ट्रीज, मेघमणि ऑर्गेनिक्स, टाटा मेटालिक्स, CESC, मिर्जा इंटरनेशनल जैसी कंपनियों के शेयरों पर दांव लगाकर एक साल में 100% रिटर्न हासिल कर सकते है।

Ankit Tyagi [Updated:19 Oct 2016, 12:40 PM IST]
Big Opportunity: इन छोटी कंपनियों के शेयरों में हैं बड़ी कमाई का मौका, एक साल में 100% तक के रिटर्न की उम्मीद- India TV Paisa
Big Opportunity: इन छोटी कंपनियों के शेयरों में हैं बड़ी कमाई का मौका, एक साल में 100% तक के रिटर्न की उम्मीद

नई दिल्ली। पिछले तीन महीनों में सेंसक्स और निफ्टी ने जहां निगेटिव रिटर्न दिया है, वहीं BSE के छोटी कंपनियों वाले स्मॉलकैप इंडेक्स ने 10 फीसदी का पॉजिटिव रिटर्न दिया है। ऐसे में एक्सपर्ट्स का मनाना है कि ग्लोबल मार्केट में आए तेज उतार-चढ़ाव का असर सेंसेक्स-निफ्टी पर दिखा है। जबकि, घरेलू इकोनॉमी के हालात बेहतर होने और आगे चलकर अच्छे मानसून के बाद डिमांड बढ़ने की उम्मीद से छोटी कंपनियों के शेयरों में तेजी है। लिहाजा निवेशक अपार इंडस्ट्रीज, मेघमणि ऑर्गेनिक्स, टाटा मेटालिक्स, सीईएससी और मिर्जा इंटरनेशनल पर दांव लगाकर 100% तक के रिटर्न हासिल कर सकते हैं।

ये भी पढ़े: हर महीने 500 रुपए लगाकर ऐसे बन सकते हैं करोड़पति, बस करना होगा ये आसान काम

(1) अपार इंडस्ट्रीज खरीदें

  • डेस्टीमनी सिक्युरिटी के प्रेसीडेंट सुदीप बंद्योपाध्याय ने लंबी अवधि के लिहाज से वैल्यू पिक के तौर पर अपार इंडस्ट्रीज का शेयर चुना है। उनका कहना है कि जीएसटी के लागू होने से कंपनी को बड़ा फायदा मिलेगा।
  • डिफेंस, रेलवे और सोलर इंडस्ट्री में मांग बढ़ रही है।
  • पावर टीएंडडी सेक्टर में सुधार से कंपनी को फायदा मिलने की उम्मीद है।
  • साथ ही वैल्यूएशन के लिहाज से भी कंपनी अच्छा प्रदर्शन कर रही है।
  • इसमें 6 महीने का नजरिया रख 650 रुपए के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती है।

 ये भी पढ़े:रिजल्ट्स सीजन के लिए ये हैं 6 बेस्ट शेयर, दो महीने में 50% से ज्यादा के रिटर्न की उम्मीद

(2) मेघमणि ऑर्गेनिक्स खरीदें

  • डी डी शर्मा ने लंबी अवधि के लिहाज से वैल्यू पिक के तौर पर मेघमणि ऑर्गेनिक्स का शेयर चुना है।
  • उनका कहना है कि कंपनी का मार्केट कैप 110 करोड़ रुपए का है।
  • वित्त वर्ष 2016 में कंपनी को 190 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है और कर्ज में 63 करोड़ रुपए की कमी आई है।
  • एग्रोकेम सेगमेंट में काफी संभावनाएं हैं।
  • साथ ही पहली तिमाही के नतीजे बेहतर आए हैं।
  • लिहाजा इसमें 12 महीने का नजरिया रख 90 रुपए के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती है।

(3) टाटा मेटालिक्स खरीदें

  • कंपनी का शेयर वैल्यूएशन के लिहाज से काफी आकर्षक लग रहा है।
  • अगर इसमें अगले 12 महीने के नजरिए से निवेश किया जाएं तो 750 रु तक के लक्ष्य मिल सकते हैं।
  • कंपनी के पिग आयरन और डक्टाइल पाइप की डिमांड अच्छी है। बेहतर डिमांड के कारण कंपनी विस्तार कर रही है।

(4) सीईएससी खरीदें

  • गौरांग शाह ने वैल्यू पिक के तौर पर इस बार सीईएससी को चुना है।
  • गौरांग शाह का कहना है कि सीईएससी की पावर जेनरेशन की क्षमता काफी बेहतर है।
  • सीईएससी का कारोबार ट्रांसमिशन और डिस्ट्रिब्यूशन में भी मौजूद है।
  • सरकार भी पावर सेक्टर को लेकर काफी संजीदगी से आगे बढ़ रही है, इस लिहाज से सीईएससी को काफी फायदा होने की उम्मीद है।
  • सीईएससी के पास पावर सेक्टर के अलावा अन्य कारोबार भी हैं, जिससे कंपनी को अच्छी आय हासिल होती है।
  • गौरांग शाह ने लंबी अवधि के लिहाज से सीईएससी में निवेश करने की सलाह दी है।
  • लंबी अवधि के लिहाज से सीईएससी में 680 रुपए के लक्ष्य के साथ निवेश किया जा सकता है।
  • 1-1.5 साल में सीईएससी में 680 रुपए का लक्ष्य मुमकिन है।

(5) मिर्जा इंटरनेशनल खरीदें

  • मिर्जा इंटरनेशनल दुनियाभर के बड़े ब्रांड्स को जूते सप्लाई करती है।
  • जर्मनी, ब्रिटेन, अमेरिका, इटली, फ्रांस जैसे बड़े बाजार में कंपनी की पकड़ मजबूत है।
  • कंपनी में कुल बिक्री का 75 फीसदी हिस्सा एक्सपोर्ट से आता है।
  • कुल एक्सपोर्ट्स का 85 फीसदी बड़े ब्रांड्स को सप्लाई करती है।
  • ब्रिटेन की एएसडीए, मटलन, एएसओएस, रिवर आइलैंड और अमेरिका की इलान पोलो, स्टीव मैडेन कंपनी के क्लाइंट्स हैं।
  • कंपनी के रेड टेप, ओक ट्रैक खुद के ब्रांड्स है।
  • रेड टेप, ओक ट्रैक यूके के 1200 से ज्यादा स्टोर में उपलब्ध हैं। रेड टेप अमेरिका के 500 से ज्यादा स्टोर में उपलब्ध है।
  • हाल में कंपनी ने येज्दी नाम का ब्रांड खरीदा है।
  • प्रोमोटर कंपनी जेनेसिस का भी विलय किया गया है, जेनेसिस से कंपनी का ईपीएस, आरओई क्षमता बढ़ने की उम्मीद है।
  • कंपनी का क्षमता विस्तार का काम पूरा हुआ है और अब कंपनी कर्ज के भुगतान पर जोर दे रही है।
  • कंपनी का मौजूदा डी/ई 0.4x आगे घटकर 0.1x होने की उम्मीद है।
  • कंपनी में दिसंबर 2015 में प्रमोटर का हिस्सा 65.97 फीसदी, मार्च 2016 में 70.87 फीसदी, जून 2016 में 73.78 फीसदी हुआ है।
  • वित्त वर्ष 2016 में कंपनी की आय 927 करोड़ रुपए, एबिडटा 172 करोड़ रुपए, मुनाफा 78 करोड़ रुपए और मार्जिन 18.5 फीसदी रहा है।
  • बीते चार सालों में कंपनी की आय में 14 फीसदी और मुनाफे में 22 फीसदी की साल-दर-साल बढ़त देखने को मिली है।
इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Write a comment
pulwama-attack
australia-tour-of-india-2019