1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. रैली अभी बाकी है: सेंसेक्‍स पहुंचा 35,511 अंक के सर्वकालिक ऊंचाई पर, निफ्टी ने पहली बार किया 10,900 अंक का स्‍तर पार

रैली अभी बाकी है: सेंसेक्‍स पहुंचा 35,511 अंक के सर्वकालिक ऊंचाई पर, निफ्टी ने पहली बार किया 10,900 अंक का स्‍तर पार

बैंकिंग और रियल्‍टी सेक्‍टर में जमकर हुई खरीदारी की वजह से आज देश के शेयर बाजार नए रिकॉर्ड स्‍तर पर बंद हुए।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Updated on: January 19, 2018 16:56 IST
nifty50- India TV Paisa
nifty50

नई दिल्‍ली। शेयर बाजारों में आज लगातार तीसरे दिन तेजी का माहौल रहा। एचडीएफसी बैंक और आईटीसी जैसी ब्लूचिप कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणामों के बीच बाजार में जारी लिवाली से शेयर बाजार नई ऊंचाई पर पहुंच गए। बंबई स्‍टॉक एक्‍सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्‍स 251.29 अंक की मजबूती के साथ 35,511.58 अंक पर एक नए रिकॉर्ड के साथ बंद हुआ। वहीं नेशनल स्‍टॉक एक्‍सेंच के इंडेक्‍स निफ्टी ने हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन में पहली बार 10,900 अंक का स्‍तर पार किया। अंत में यह 77.70 अंक मजबूत होकर 10,894.70 अंक के नए रिकॉर्ड स्‍तर पर बंद होने में सफल रहा।

विशेषज्ञों का कहना है कि अब जल्‍द ही बाजार नया रिकॉर्ड बनाएगा और निफ्टी 11,000 का स्‍तर छुएगा। शुक्रवार को अंतिम कारोबारी समय में 3:16 बजे निफ्टी ने पहली बार 10900.85 अंक को छुआ।

माल एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद द्वारा 29 वस्तुओं और 54 श्रेणी की सेवाओं पर कर की दर कम करने के फैसले को निवेशकों ने हाथों हाथ लिया। बाजार में लिवाली का रुख देखा गया और घरेलू एवं विदेशी दोनों निवेशकों की ओर से सतत लिवाली हुई। कारोबार की शुरुआत में सेंसेक्स 35,542.17 अंक के नए उच्च स्तर पर पहुंच गया था। पिछले तीन सत्र के कारोबार में सेंसेक्स कुल 740.53 अंक बढ़ा है। इसी प्रकार निफ्टी ने आज दिन में कारोबार के दौरान 10,906.85 अंक के उच्च स्तर को छुआ।

राइट्स-इनविट्स में 25 प्रतिशत तक निवेश कर सकते हैं रणनीतिक निवेशक 

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (राइट्स) और इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट्स) को अधिक आकर्षक बनाने के लिए रणनीतिक निवेशकों जैसे पंजीकृत एनबीएफसी और अंतरराष्ट्रीय बहुपक्षीय वित्तीय संस्थानों को इन ट्रस्टों द्वारा की जाने वाली पेशकश में 25 प्रतिशत तक निवेश की अनुमति दे दी है। 

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने एक सर्कुलर में कहा कि रणनीतिक निवेशक संयुक्त रूप से या अकेले इन ट्रस्टों की कुल पेशकश आकार का पांच प्रतिशत से कम और 25 प्रतिशत से अधिक निवेश नहीं कर सकते हैं। रणनीतिक निवेशकों द्वारा ली गई यूनिट्स सार्वजनिक निर्गम में सूचीबद्धता के बाद 180 दिन तक बंधित रहेंगी। इसके अलावा सेबी ने रणनीतिक निवेशकों के राइट्स और इनविट्स में भागीदारी के लिए परिचालन के तौर तरीके भी तय कर दिए हैं। 

 

 

Write a comment