1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. इंडियाबुल्स में रीस्ट्रक्चरिंग के ऐलान से ग्रुप कंपनियों के शेयर 42 फीसदी तक उछले, अब क्या करें निवेशक

इंडियाबुल्स में रीस्ट्रक्चरिंग के ऐलान से ग्रुप कंपनियों के शेयर 42 फीसदी तक उछले, अब क्या करें निवेशक

इंडियाबुल्स ग्रुप ने सोमवार को अपने कारोबार में रीस्ट्रक्चरिंग का ऐलान किया है। इस खबर के बाद ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में जोरदार तेजी देखने को मिली।

Ankit Tyagi [Updated:17 Apr 2017, 3:37 PM IST]
इंडियाबुल्स में रीस्ट्रक्चरिंग के ऐलान से ग्रुप कंपनियों के शेयर 42 फीसदी तक उछले, अब क्या करें निवेशक- India TV Paisa
इंडियाबुल्स में रीस्ट्रक्चरिंग के ऐलान से ग्रुप कंपनियों के शेयर 42 फीसदी तक उछले, अब क्या करें निवेशक

नई दिल्ली। इंडियाबुल्स ग्रुप ने सोमवार को अपने कारोबार में रीस्ट्रक्चरिंग का ऐलान किया है। इस खबर के बाद ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में जोरदार तेजी देखने को मिली। खासकर इंडियाबुल्स रियल का शेयर कारोबार के दौरान 42 फीसदी तक उछल गया है वहीं, इंडियाबुल्स होलसेल सर्विसेस 20 फीसदी, इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस 2 फीसदी, इंडियाबुल्स वेंचर्स 5 फीसदी और रतनइंडिया पावर 15 फीसदी तक उछल गया। हालांकि एक्सपर्ट्स का कहना है कि शेयर में तेजी न्यूज इन्फलो के चलते है। इसीलिए फिलहाल इन्वेस्टर्स वेट एंड वॉच की स्ट्रैटेजी पर काम कर सकते है।

शेयरों का प्रदर्शन

शेयर सोमवार (रिटर्न) एक हफ्ता (रिटर्न) एक महीना (रिटर्न) तीन महीने (रिटर्न) छह महीने (रिटर्न) एक साल (रिटर्न)
इंडियाबुल्स रियल 36% 60% 76% 83% 76% 162%
इंडियाबुल्स होलसेल सर्विसेज 20% 36% 84% 96% 122% 258%
इंडियाबुल्स वेंचर्स 5% 34% 136% 308% 236% 457%
रतनइंडिया पावर 18% 8% 30% 30% 8% -9%
इंडियाबुल्स हाउसिंग 3% 1% 8% 31% 19% 56%

यह भी पढ़े: Money Making Idea: ये हैं 50 रुपए से सस्ते 5 शेयर, शॉर्ट टर्म में बड़े रिटर्न की उम्मीद

रीस्ट्रक्चरिंग का ऐलान

इंडियाबुल्स रियल एस्टेट के कारोबार की रीस्ट्रक्चरिंग के ऐलान किया है। इंडियाबुल्स रियल की रीस्ट्रक्चरिंग योजना के तहत कमर्शियल एसेट कारोबार के लिए होल्डिंग कंपनी बनाई जाएगी। कंपनी का कमर्शियल और लीजिंग कारोबार इंडियाबुल्स कमर्शियल में रहेगा। होल्डिंग कंपनी डीमर्ज होगी या फिर इसमें स्ट्रैटेजिक निवेशक लाया जाएगा। डीमर्जर या अलग लिस्टिंग कराने पर अगले कुछ महीनों में विचार किया जाएगा। इंडियाबुल्स कमर्शियल लीज पर देने के लिए ऑफिस डेवलप करेगी।

डीमर्जर के बाद अलग लिस्टिंग की भी कंपनी की योजना है। होल्डिंग कंपनी के लिए स्ट्रैटेजिक इन्वेस्टर की भी तलाश है। कंपनी का नेटवर्थ 2311 करोड़ रुपए है। होल्डिंग कंपनी पर करीब 3950 करोड़ रुपए का कर्ज होगा। इंडियाबुल्स रियल एस्टेट पर करीब 4395 करोड़ रुपये का कर्ज है।

यह भी पढ़े: Jio की फ्री सर्विस के बावजूद मुकेश अंबानी हो रहे है मालामाल, जानिए कैसे

इंडियाबुल्स रियल एस्टेट के ज्वाइंट एम विशाल दमानी का कहना है कि

रिस्ट्रक्चरिंग से कंपनी की कार्यक्षमता में विस्तार होगा जिसके कंपनी के रेवेन्यू में बढ़त देखने को मिलेगी।

Web Title: इंडियाबुल्स में रीस्ट्रक्चरिंग से ग्रुप कंपनियों के शेयर 42% तक उछले
Write a comment