1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी मंगलवार को बेचेगी सरकार, सरकारी खजाने में आएंगे 450 करोड़ रुपए

MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी मंगलवार को बेचेगी सरकार, सरकारी खजाने में आएंगे 450 करोड़ रुपए

सरकार सार्वजनिक क्षेत्र की मैंगनीज खनन कंपनी मॉयल (MOIL) में मंगलवार को अपनी 10 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री 365 रुपए प्रति शेयर के न्यूनतम मूल्य पर करेगी।

Manish Mishra [Published on:23 Jan 2017, 5:57 PM IST]
MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी मंगलवार को बेचेगी सरकार, सरकारी खजाने में आएंगे 450 करोड़ रुपए- India TV Paisa
MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी मंगलवार को बेचेगी सरकार, सरकारी खजाने में आएंगे 450 करोड़ रुपए

नई दिल्ली सरकार सार्वजनिक क्षेत्र की मैंगनीज खनन कंपनी मॉयल (MOIL) में मंगलवार को अपनी 10 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री 365 रुपए प्रति शेयर के न्यूनतम मूल्य पर करेगी। इससे सरकारी खजाने में 450 करोड़ रुपए आएंगे।

यह भी पढ़ें : तीन साल में बेकार हो जाएंगे सभी ATM, डिजिटल बैंकिंग का होगा बोलबाला : अमिताभ कांत

खुदरा निवेशकों को शेयरों पर मिलेगी 5.20 फीसदी की छूट

  • MOIL के शेयर का न्यूनतम मूल्य बांबे स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर शेयर के बंद भाव 382.70 रुपए से 4.63 प्रतिशत कम रखा गया है।
  • एक अधिकारी ने कहा कि बिक्री पेशकश में खुदरा निवेशकों को इस पर 5.20 प्रतिशत की छूट और मिलेगी।
  • सरकार की फिलहाल MOIL में 75.58 प्रतिशत हिस्सेदारी है। पहले इस कंपनी का नाम मैंगनीज ओर लिमिटेड था।

यह भी पढ़ें : नोटबंदी से किसानों को हुआ 50 हजार रुपए प्रति एकड़ तक का नुकसान

365 रुपए होगा MOIL के शेयरों का न्‍यूनतम मूल्‍य

  • अधिकारी ने कहा कि सरकार मंगलवार को MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री 365 रुपए प्रति शेयर के न्यूनतम मूल्य पर करेगी।
  • दो दिन की बिक्री पेशकश में संस्थागत निवेशक कल बोली लगा सकेंगे।
  • खुदरा निवेशक 25 जनवरी को शेयरों के लिए बोली लगा सकेंगे।
  • इससे पहले इसी वित्त वर्ष में सरकार ने MOIL की शेयर पुनर्खरीद के जरिये 794 करोड़ रुपए जुटाए थे।

सरकार ने चालू वित्त वर्ष में ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए अल्पांश हिस्सेदारी बिक्री, शेयर पुनर्खरीद तथा CPSE ETF की पेशकश के जरिए 30,000 करोड़ रुपए जुटाए हैं।

Web Title: MOIL में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी मंगलवार को बेचेगी सरकार
Write a comment