1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. FPI ने मई में अब तक बाजार से निकाल लिए 2.65 अरब डॉलर, कच्‍चे तेल की कीमतों में तेजी है बड़ी वजह

FPI ने मई में अब तक बाजार से निकाल लिए 2.65 अरब डॉलर, कच्‍चे तेल की कीमतों में तेजी है बड़ी वजह

विदेशी निवेशकों ने इस महीने अब तक पूंजी बाजारों से करीब 18,000 करोड़ रुपए (2.65 अरब डॉलर) की पूंजी निकासी की है। मुख्य रूप से वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम में तेजी तथा अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के कारण यह निकासी की गयी है।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: May 20, 2018 11:33 IST
FPIs in exit mode pull out 2.65 billion dollars in May- India TV Paisa

FPIs in exit mode pull out 2.65 billion dollars in May

नई दिल्ली विदेशी निवेशकों ने इस महीने अब तक पूंजी बाजारों से करीब 18,000 करोड़ रुपए (2.65 अरब डॉलर) की पूंजी निकासी की है। मुख्य रूप से वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के दाम में तेजी तथा अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के कारण यह निकासी की गयी है। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने अप्रैल में पूंजी बाजार से 15,500 करोड़ रुपए से अधिक की निकासी की।

ताजा आंकड़ों के अनुसार FPI ने 2 से 18 मई के बीच शेयर बाजारों से 4,830 करोड़ रुपए तथा बांड बाजार से 12,947 करोड़ रुपए निकाले। कुल मिलाकर 17,771 करोड़ रुपए की निकासी की गयी।

ऑनलाइन निवेश की सुविधा देने वाली ग्रो के मुख्य परिचालन अधिकारी हरीश जैन ने कहा कि निकासी का कारण कच्चे तेल के भाव में तेजी तथा अमेरिका-ईरान के बीच बढ़ता तनाव है। इस साल अबतक FPI ने शेयरों में 3,600 करोड़ रुपए लगाये जबकि बांड बाजार से करीब 24,000 करोड़ रुपए निकाले।

आम चुनाव से जुड़ी ताजा खबरों, लोकसभा चुनाव 2019 की खबरों, चुनावों से जुड़े लाइव अपडेट्स और चुनाव परिणामों के लिए https://hindi.indiatvnews.com/elections पर बने रहें। इसके साथ ही हमें फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करके या #ElectionsWithIndiaTV हैशटैग का इस्तेमाल करके 543 लोकसभा सीटें और विधानसभा चुनावों से जुड़े ताजा परिणाम पाएं। आप #ResultsWithRajatSharma हैशटैग का इस्तेमाल करके इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के साथ 23 मई को चुनाव परिणामों की पल-पल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
Web Title: FPI ने मई में अब तक बाजार से निकाल लिए 2.65 अरब डॉलर, कच्‍चे तेल की कीमतों में तेजी है बड़ी वजह
Write a comment
ipl-2019