1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सेबी ने जारी किया नया ड्राफ्ट, कंपनियों को 48 घंटे के भीतर बोर्ड बैठकों की देनी होगी जानकारी

सेबी ने जारी किया नया ड्राफ्ट, कंपनियों को 48 घंटे के भीतर बोर्ड बैठकों की देनी होगी जानकारी

सेबी ने लिस्टेड कंपनियों की होने वाली बैठक को लेकर नय ड्राफ्ट जारी किया है। इसके तहत कंपनियों को 48 घंटे के भीतर बैठक की जानकारी देनी होगी।

Sachin Chaturvedi [Updated:22 Dec 2015, 2:03 PM IST]
सेबी ने जारी किया नया ड्राफ्ट, कंपनियों को 48 घंटे के भीतर बोर्ड बैठकों की देनी होगी जानकारी- India TV Paisa
सेबी ने जारी किया नया ड्राफ्ट, कंपनियों को 48 घंटे के भीतर बोर्ड बैठकों की देनी होगी जानकारी

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी ने बाजार में पारदर्शिता लाने के लिए लिस्टेड कंपनियों की होने वाली बैठक को लेकर नय ड्राफ्ट जारी किया है। सेबी ने कंपनियों से कहा है कि वह बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक के बारे में 48 घंटे के भीतर जानकारी दें। इसके अलावा कंपनियों की साधारण बैठकों में भाग लेने वाले शेयरधारकों की संख्या, मतदान के तरीके के बारे में फिक्स्ड फॉर्मेट में जानकारी उपलब्ध कराएं। नए नियम एक दिसंबर से लागूं होगें।

यह भी पढ़ें : Beware: सेबी ने निवेशकों को किया सतर्क, कहा गैरकानूनी धन जुटाने वाली कंपनियों से बचें

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने बुधवार को सर्कुलर जारी कर कहा है कि लिस्टेड कंपनियों को साधारण आम बैठक के परिणाम के बारे में 48 घंटे के भीतर शेयर बाजारों को जानकारी देनी होगी। बैठक में हुए मतदान के नतीजे के बारे में निर्धारित प्रारूप के अनुरूप जानकारी देनी होगी। इस तरह की बैठकों के बारे में दी जाने वाली जानकारी का ब्योरा देते हुए नियामक ने कहा कि कंपनियों को वार्षिक आम बैठकों, असाधारण आम बैठकों, रिकार्ड तिथि के दिन शेयरधारकों की कुल संख्या, बैठक में व्यक्तिगत तौर पर अथवा प्रतिनिधि के जरिए भाग लेने वाले प्रवर्तकों एवं सार्वजनिक शेयरधारकों, या फिर वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिये भाग लेने वालों का पूरा ब्योरा देना होगा।

यह भी पढ़ें : शेयर ब्रोकरों की चांदी, ऑनलाइन ट्रेडिंग से 57 फीसदी तक बढ़ी कमाई

सेबी ने कहा है कि इसके अलावा बैठक में एजेंडा के मुताबिक जानकारी भी देनी होगी। एजेंडा में अंकित कितने प्रस्तावों को मंजूरी मिली। यह मंजूरी सामान्य मत से मिली और विशेष मत के जरिए दी गई। प्रवर्तक इकाइयां एजेंडा में रुचि ले रही थीं अथवा नहीं। सेबी ने जानकारी देने के लिए जो प्रारूप जारी किया है उसमें पक्ष में मतदान करने वालों की संख्या और विपक्ष में मतदान करने वालों की संख्या। इनमें प्रवर्तकों, सार्वजनिक संस्थानों और गैर-सार्वजनिक संस्थानों के बारे में जानकारी देनी होगी।

Web Title: सेबी ने बोर्ड बैठकों के बारे में जानकारी देने का प्रारूप ड्राफ्ट जारी किया
Write a comment