1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सितंबर तिमाही में इन कंपनियों के मुनाफे में लौटने की उम्मीद, मोटे रिटर्न के लिए शेयरों में करें निवेश

सितंबर तिमाही में इन कंपनियों के मुनाफे में लौटने की उम्मीद, मोटे रिटर्न के लिए शेयरों में करें निवेश

BHEL, एस्ट्रामाइक्रो, क्रॉम्टन ग्रीव्स, शॉपर्स स्टॉप के घाटे से मुनाफे में लौटने की उम्मीद हैं। लिहाजा निवेशक इस रिजल्ट्स सीजन में इन पर दांव लगा सकते है।

Ankit Tyagi [Updated:20 Oct 2016, 7:09 AM IST]
Make Money: सितंबर तिमाही में इन कंपनियों के मुनाफे में लौटने की उम्मीद, मोटे रिटर्न के लिए शेयरों में करें निवेश- IndiaTV Paisa
Make Money: सितंबर तिमाही में इन कंपनियों के मुनाफे में लौटने की उम्मीद, मोटे रिटर्न के लिए शेयरों में करें निवेश

नई दिल्ली। रिजल्ट्स के इस सीजन में दिग्गज कंपनियों के अच्छे नतीजों के बाद मिडकैप और स्मॉलकैप कंपनियों से भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीदें बढ़ गई हैं। माना जा रहा है कि मौजूदा समय में ब्याज दरें घटने और इकोनॉमी के सेंटीमेंट में सुधार का फायदा कंपनियों को मिलेगा। बीएचईएल, एस्ट्रामाइक्रो, क्रॉम्टन ग्रीव्स, शॉपर्स स्टॉप इस सीजन में टर्नअराउंड यानी घाटे से मुनाफे में लौट सकती हैं। ऐसे में इन्वेस्टर इस रिजल्ट सीजन में अच्छे रिटर्न हासिल कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:रिजल्ट्स सीजन के लिए ये हैं 6 बेस्ट शेयर, दो महीने में 50% से ज्यादा के रिटर्न की उम्मीद

क्या होता है टर्नअराउंड

  • मार्केट एक्सपर्ट मानते हैं कि आर्थिक सुधार और रुपए की चाल के साथ ही एक्सपोर्ट में हुए बदलावों से कंपनियों के खातों पर असर पड़ता है।
  • साथ ही कंपनी या सेक्टर से संबंधित बड़ी खबरों की आय और मुनाफे पर सकारात्मक असर होता है।
  • इन सब बदलावों को टर्नअराउंड कहते हैं।
  • बाजार के फंडामेंटल एनालिस्ट मानते हैं कि इन बदलावों से जहां शेयर और सेक्टर की री-रेटिंग होती है, वहीं शेयर के भाव पर इसका जोरदार असर देखने को मिलता है।

ये भी पढ़े: ये हैं दस मालामाल शेयर, अगले एक साल में 50 फीसदी तक के रिटर्न की उम्मीद

एक्सपर्ट की राय

एक्सपर्ट्स कहते हैं कि उन कंपनियों की पहचान करिए, जो कई तिमाही तक घाटे में रहने के बाद पिछली कुछ तिमाही से मुनाफे में हैं। यहां पर निवेशकों के मन में सवाल उठेगा कि क्या इस तरह की कंपनी फिर से घाटे में नहीं जा सकतीं, लेकिन इकोनॉमी बॉटम आउट हो चुकी है। इसलिए अभी ऐसी आशंका नहीं है।

मायस्टॉक के हेड लोकेश उप्पल कहते हैं कि फिलहाल इन्वेस्टमेंट हालात जिस तरह से सुधर रहे हैं और इकनॉमिक रिकवरी दिख रही है, ऐसे में ज्यादातर कंपनियों के जल्द नुकसान में जाने की आशंका नहीं है। अब टर्नअराउंड कंपनियों की संख्या बढ़ सकती है।

यह भी पढ़ें : NSE को OFS के जरिए IPO के लिए बोर्ड से मंजूरी मिली, भारत और विदेश में लिस्टिंग की है योजना

1.बीएचईएल खरीदें, लक्ष्य 141 रुपए

  • शेयरखान की रिपोर्ट में कहा गया है कि बीएचईएल जुलाई-सितंबर तिमाही में घाटे से मुनाफे में लौट सकती है।
  • इस दौरान कंपनी का मुनाफा बढ़कर 143 करोड़ रुपए होने का अनुमान है।
  • कंपनी की आय 19 फीसदी बढ़कर 6952 करोड़ रुपए हो सकती है।
  • सरकार के तेजी से हुए इकोनॉमिक रिफॉर्म का फायदा कंपनी को मिलेगा।

2.क्रॉम्टन ग्रीव्स खरीदें, लक्ष्य 100 रुपए

  • रेलिगेयर सिक्युरिटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी का शेयर छोटी अवधि में 100 रुपए के लक्ष्य को छू सकता है।
  • जुलाई-सितंबर में कंपनी 9 करोड़ रुपए के घाटे के मुकाबले मुनाफे में लौट सकती है।
  • कंपनी के ऑपरेशंस बेहतर होने से कंपनी मुनाफे में लौटेगी।

3.एस्ट्रा माइक्रो खरीदें

  • एस्ट्रा माइक्रो बेहतर ऑर्डर इन्फलो के चलते जुलाई-सितंबर तिमाही में घाटे से मुनाफे में लौटी सकती है। लिहाज ब्रोकरेज हाउस एडलवाइस ने शेयर पर लंबी अवधि के लिए 180 रुपए के लक्ष्य तय किए है।
  • ट्रेड स्विफट के हेड संदीप जैन के मुताबिक डिफेंस सेक्टर में एस्ट्रा माइक्रो की बैलेंसशीट अन्य कंपनियों के मुकाबले बेहतर हो रही है।
  • साथ ही, लगातार सरकार की ओर से भी डिफेंस में घरेलू कंपनियों को बढ़ावा मिल रहा है।
  • सेठी फिनमार्ट के विकास सेठी का कहना है कि फंडामेंटल लिहाज से एस्ट्रा माइक्रो में गिरावट पर लंबी अवधि के लिए खरीदारी की जा सकती है।
  • डिफेंस सेक्टर की कंपनी एस्ट्रा माइक्रो बेब में थोड़ा दबाव देखने को मिल रहा है।
  • लेकिन डिफेंस सेक्टर से जुड़े होने के कारण इसमें तेजी का नजरिया है।
  • लिहाजा इसमें लंबी अवधि के लिए खरीदारी की जा सकती है।

 4.शॉपर्स स्टॉप खरीदें

  • एडलवाइस ने शॉपर्स स्टॉप के शेयर पर खरीदारी की राय दी है। साथ ही लंबी अवधी के लिए 474 रुपए के लक्ष्य तय किए है।
  • जुलाई-सितंबर तिमाही में कंपनी घाटे से मुनाफे में लौट सकती है। जबकि अप्रैल-जून तिमाही में शॉपर्स स्टॉप को 13.6 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।
  • शॉपर्स स्टॉप के मैनेजिंग डायरेक्टर गोविंद श्रीखंडे के मुताबिक इस साल मॉनसून भी अच्छा रहा है।
  • फेस्टिव सीजन के आते ही कंज्यूमर्स का सेंटीमेंट पॉजिटिव होता दिख रहा है।
  • इसके अलावा इसी फेस्टिव सीजन में पे कमीशन का इंक्रीमेंट भी आने वाला जिससे इस फेस्टिव सीजन में रिटेल सेक्टर में अच्छी तेजी देखने को मिलेगी।
  • इस सभी फैक्टरों की वजह से तीसरी तिमाही के ब्लॉक बस्टर तिमाही साबित होने की उम्मीद है।
Web Title: सितंबर तिमाही में इन कंपनियों के मुनाफे में लौटने की उम्मीद
Write a comment