1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. PHOTOS: ग्रेटर नोएडा में OPPO के विनिर्माण संयंत्र में जानें कैसे बनते हैं स्मार्टफोन?

PHOTOS: ग्रेटर नोएडा में OPPO के विनिर्माण संयंत्र में जानें कैसे बनते हैं स्मार्टफोन?

ग्रेटर नोएडा में 110 एकड़ क्षेत्र में बने ओप्पो के विनिर्माण संयंत्र में एक युनिट पूरी तरह कार्य कर रही है, जबकि दो अन्य यूनिट निर्माणाधीन हैं। ओप्पो इंडिया के अनुसार ग्रेटर नोएडा स्थित इकाई की उत्पादन क्षमता प्रति माह 40 लाख युनिट और सालाना उत्पादन क्षमता 4.80 करोड़ यूनिट की है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 18, 2019 12:27 IST
Oppo to double smartphone production in India by 2020...- India TV Paisa

Oppo to double smartphone production in India by 2020 use it as export hub

चीन की प्रमुख स्‍मार्टफोन निर्माता ओप्‍पो का भारत में अपनी उत्‍पादन क्षमता को बढ़ाकर 2020 के अंत तक दोगुना करने का है। कंपनी की योजना भारत को अपना एक्‍सपोर्ट हब बनाने की है और वह जल्‍द ही दक्षिण एशिया, मध्‍य पूर्व और अफ्रीकन देशों को भारत से निर्यात शुरू करेगी।

ग्रेटर नोएडा में 110 एकड़ क्षेत्र में बने ओप्‍पो के विनिर्माण संयंत्र में एक युनिट पूरी तरह कार्य कर रही है, जबकि दो अन्‍य यूनिट निर्माणाधीन हैं। ओप्‍पो इंडिया के अनुसार ग्रेटर नोएडा स्थित इकाई की उत्‍पादन क्षमता प्रति माह 40 लाख युनिट और सालाना उत्‍पादन क्षमता 4.80 करोड़ यूनिट की है। दिसंबर 2020 तक अन्‍य दो इकाई के परिचालन में आने के बाद यहां की कुल उत्‍पादन क्षमता बढ़कर लगभग दोगुनी हो जाएगी।

ओप्‍पो उत्‍पादों में बेहतर गुणवत्‍ता को सुनिश्चित करने के लिए ग्रेटर नोएडा संयंत्र में अत्‍याधुनिक मशीनों और परीक्षणों का इस्‍तेमाल किया जाता है। विनिर्माण, गुणवत्‍ता और उत्‍पाद परीक्षण जैसे विभागों में भारतीय श्रमिकों के साथ ही साथ चीनी विशेषज्ञ भी यहां कार्य करते हैं।

ओप्‍पो ने अपने हैदराबाद आरएंडडी सेंटर में भी अतिरिक्‍त निवेश करने की योजना बनाई है, जो कि चीन के बाहर कंपनी का सबसे बड़ा आरएंडडी सेंटर है। रेनो के हाल ही में लॉन्‍च हुए 10 एक्‍स जूम वाले रेनो स्‍मार्टफोन के विकास में हैदराबाद आरएंडी सेंटर ने महत्‍वपूर्ण भुमिका निभाई है।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban