1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. टेक का सबसे बड़ा महाकुंभ इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2019 शुरू, 'मौजूदा समय में देश में 268 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां'

टेक का सबसे बड़ा महाकुंभ इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2019 शुरू, 'मौजूदा समय में देश में 268 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां'

आज से दिल्ली के एयरोसिटी में इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2019 (India Mobile Congress 2019) का शुभारंभ हो गया है। इस मौके पर रविशंक प्रसाद ने कहा कि 2014 में हमारे पास केवल 2 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां थीं, लेकिन अब हमारे पास 268 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां हैं।

India TV Tech Desk India TV Tech Desk
Updated on: October 14, 2019 13:36 IST
Union Telecom Minister Ravi Shankar Prasad flanked by Telecom Secretary Anshu Prakash (L) and Aditya- India TV Paisa
Photo:PTI

Union Telecom Minister Ravi Shankar Prasad flanked by Telecom Secretary Anshu Prakash (L) and Aditya Birla Group Chairman Kumar Mangalam Birla (R) during the inauguration of India Mobile Congress in New Delhi on Monday

नई दिल्ली। आज से दिल्ली के एयरोसिटी में इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2019 (India Mobile Congress 2019) का शुभारंभ हो गया है। भारत सरकार में संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रोद्यौगिकी तथा कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आईएमसी 2019 का उद्घाटन किया। तीन दिवसीय आयोजित होने वाले आईएमसी 2019 का ये तीसरा संस्करण है जो 16 अक्टूबर तक चलेगा। इससे पहले दो बार टेक्नोलॉजी के इस बड़े इवेंट का आयोजन किया जा चुका है। इंडिया मोबाइल कांग्रेस दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा टेक इवेंट है, जिसमें दुनिया भर के दिग्गज टेक कंपनियां हिस्सा लेती हैं। 

इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2019 के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार ने 5G के ट्रायल के लिए कुछ कंपनियों को अनुमति दे दी है, इसके अलावा सरकार तकनीक को भी देख रही है। प्रसाद ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे बड़ा डेटा उत्पन्न कर रहा है और मैं बहुत उत्सुक हूं कि भारत डेटा एनालिटिक के लिए एक बड़ा केंद्र बनना चाहिए।

रविशंक प्रसाद ने कहा कि 2014 में हमारे पास केवल 2 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां थीं, लेकिन अब हमारे पास 268 मोबाइल विनिर्माण कंपनियां हैं। इनमें में से कुछ दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियां भी हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में भारत में 1.18 अरब फोन यूजर्स और 63 करोड़ इंटरनेट यूजर्स हैं। इसके अलावा 1.24 अरब लोगों के पास आधार है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि अमेरिका, ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया ने भी उसी चिंता को जाहिर किया है, जिसे भारत ने सोशल मीडिया के माध्यम से एन्क्रिप्ट किए गए संदेशों के पता लगाने के संबंध में उठाए थे। प्रसाद ने कहा कि ग्रामीण भारत ने जिस तरह से डिजिटल टेक्नोलॉजी को स्वीकार किया है वो मेरे लिए काफी आश्वस्त करने वाला है। यह आकांक्षात्मक ग्रामीण भारत डिजिटल प्रौद्योगिकी के साथ-साथ व्यवसाय और विकास को भी आगे बढ़ा रहा है। 

आईएमसी 2019 में भी पिछले साल की तरह ही 5G और IoT (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) जैसे स्मार्ट टेक्नोलॉजी पर फोकस रहेगा। मोबाइल कांग्रेस इवेंट में हुवावेई का सब ब्रान्ड ऑनर अपना स्मार्ट टीवी लॉन्च कर सकती है। इस साल भी उम्मीद की जा रही है कि भारतीय स्टार्टअप लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब होंगे साथ ही यहां मेक इन इंडिया के तहत कुछ अनोखे इनोवेटिव गैजेट देखने को मिलेंगे।

कई देश लेंगे हिस्सा

इस साल होने वाले आईएमसी का आयोजन दूरसंचार विभाग और सीओएआई द्वारा किया जा रहा है, जिसमें 40 से अधिक देश और 300 से अधिक प्रदर्शक और 250 से अधिक प्रवक्ता हिस्सा ले रहे हैं। यहां देश की दिग्गज टेलिकॉम कंपनियां Reliance Jio और Airtel अपने 5G सर्विस के भविष्य के प्लान्स के बारे में घोषणा कर सकती हैं। इस इवेंट में कई प्रोडक्ट्स भी लॉन्च किए जा सकते हैं, जिसमें स्मार्ट डिवाइस, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स और एक्सेसरीज हैं। यही नहीं Jio अपने GigaFiber (Jio Fiber) के जरिए स्मार्टहोम और ऑफिस का डेमो भी पेश कर सकता है।

खास है इस बार की थीम

भारत में होने वाले इस बड़े टेक इवेंट की थीम इस बार 'Imagine: a new CONNECTED world; Intelligent.Immersive.Inventive' रखी गई है। इसे 9 अलग हिस्सों में बांटा गया है, जिनमें ऑग्युमेन्टेड ऐनालिटिक्स, ऑटोनोमस थिंग्स, फ्यूचर लॉजिस्टिक्स, इमर्सिव वर्ल्ड, इंटेलिजेंट एज, इन्वेन्टिव यूनिकॉर्न, एमहेल्थ, प्रिवेसी ऐंड एथिक्स और स्मार्ट स्पेसेज शामिल हैं।

 Airtel अपनी 5G सर्विस का लाइव डेमो कर सकती है पेश 

Airtel, Vodafone और Jio तीनों ही कंपनियां 5G स्पेक्ट्रम के आवंटन को लेकर तैयारियां कर रही हैं। आईएमसी 2019 में Airtel अपने 5G सर्विस का लाइव डेमो पेश कर सकता है। इसके लिए कंपनी यूजर्स को इन्वाइट भी कर रही है। आपको बता दें कि Airtel ने पिछले साल से ही MIMO (मल्टीपल इनपुट मल्टीपल आउटपुट) नेटवर्क को देश के कुछ शहरों में ट्रायल कर रहा है। MIMO को 4G सर्विस का नेक्स्ट लेवल कहा जाता है। 

इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) की मदद से आने वाले समय में घर को स्मार्ट होम में और ऑफिस को स्मार्ट ऑफिस बनाया जा सकेगा। आप सुबह से लेकर शाम तक टेक्नोलॉजी के साथ ही घिरे रहेंगे। 5G और IoT के जरिए आप कहीं से भी और कभी भी अपने घर हो या ऑफिस, टेक्नोलॉजी की मदद से कंट्रोल कर सकेंगे। आईएमसी 2019 में कुछ इसी तरह की नई टेक्नोलॉजी तो शोकेस किया जाएगा।

Write a comment
bigg-boss-13